free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / चलती हुई ट्रेन में चढ़ने के दौरान निचे गिरी महिला, सुरक्षाबलों ने ऐसे बचाई महिला की जान

चलती हुई ट्रेन में चढ़ने के दौरान निचे गिरी महिला, सुरक्षाबलों ने ऐसे बचाई महिला की जान

दोस्तों किसी ने सच ही कहा है दुर्घ-टना से देर ही भली लेकिन कोई समझता ही नही है . आजकल तेज रफ्तार से चल रही जिन्दगी में सभी को बहुत जल्दी रहती है .किसी को भी जरा सी देरी या इंतज़ार पसंद नही .चाहे फिर कुछ भी हो जाये .आपने अक्सर सडको पर देखा होगा रेड लाइट होने पर भी बहुत से लोग सिग्नल तोड़ कर अपनी गाड़ी को आगे बढा  लेते है जिसकी वजह से बहुत सी दुर्घटनाये हो जाती है .बहुत से लोग जल्दी के चक्कर में चलती बसों में चढने की कोशिश करते है .जिसका परिणाम उन्हें बाद में भुगतना पड़ता है आज हम आपको ऐसे है एक मामले के बारे में बताने वाले है .जिसमे जल्दी के चक्कर  में एक महिला चलती ट्रेन से गिर  गयी .उसके बाद जो हुआ जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े .

मुंबई लोकल ट्रेन पकड़ने की जल्दी में एक महिला ने दौड़ लगाई. चलती हुई ट्रेन में चढ़ते वक्त संतुलन गड़बड़ाया और गिर पड़ी. ऐसे में किस्मत से उनकी जान बच गई. चलती हुई ट्रेन के दरवाजे पर जब उन्होंने अपना पैर रखा तो संतुलन गड़बड़ा गया और हाथ गेट के रॉड से छूट गया.ट्रेन स्पीड पकड़ चुकी थी. महिला नीचे गिरी लेकिन किस्मत अच्छी थी कि ट्रेन और प्लेटफॉर्म के बीच के गैप में जाते-जाते रह गई.इसी बीच वहां तैनात सुरक्षा बल के जवान दौड़े और महिला को प्लेटफॉर्म में पटरी और चलती ट्रेन से दूर खींचा. यह सब कुछ एक मिनट में घट गया. महिला की जान बच गई! पूरी घटना सीसीटीवी में कैद हो गई.

क्या हुआ, कैसे हुआ? कैसे गिरी, कैसे बची?

शनिवार (4 दिसंबर) सुबह सवा नौ बजे के करीब की यह घटना है. मुंबई सीएसटी कीओर जाने वाली एक लोकल ट्रेन स्टेशन पर रुकी हुई थी. सभी यात्री चढ़ गए. लेकिन जैसे ही लोकल शुरू हुई, तभी एक महिला पीछे से भागती हुई महिला डब्बे की ओर आई. लेकिन तब तक ट्रेन स्पीड पकड़ चुकी थी. वह चलती में ही महिला डब्बे में चढ़ने लगी कि हाथ पर रखे सामान की वजह से उनका संतुलन गड़बड़ाया और वो दरवाजे से नीचे गिर गई.

ट्रेन ने गति पकड़ ली थी इसलिए महिला लोकल ट्रेन और प्लेटफॉर्म के गैप में फंस सकती थीं. लेकिन वहां खड़े महाराष्ट्र सुरक्षा दल के जवानों ने तत्परता दिखाई और समय रहते दौड़ कर महिला को पकड़ा और दूसरी तरफ खींचा. इस तरह महिला की जान बच गई. संबंधित महिला ने महाराष्ट्र सुरक्षा बल के दोनों जवानों और रेलवे पुलिस का आभार माना है.

महाराष्ट्र सुरक्षा बल के दौड़े दो जवान, तत्परता से बचाई महिला की जान

यात्रियों से पुलिस ने किया आह्वान, जल्दबाजी करके ना करें ज़िंदगी कुर्बानइस बीच वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक मुकेश ढगे ने ऐसी घटनाओं के संदर्भ में यात्रियों से विनती की है कि वे जल्दबाजी ना किया करें. एक ट्रेन जाए तो दूसरी ट्रेन आने का इंतज़ार करें. उन्होंने इस बात का अफसोस जताया कि चलती गाड़ी पकड़ने की जल्दी में ही दुर्घटनाएं होने की संख्या ज्यादा है. आंकड़े साफ यह दर्शाते हैं, फिर भी लोगों को यह समझ नहीं आता है.

 

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *