free tracking
Home / क्रिकेट / जब सौरव गांगुली की आँखों के सामने खड़ी थी मौ”त,गांगुली के माथे पर तान दी थी बंदूक

जब सौरव गांगुली की आँखों के सामने खड़ी थी मौ”त,गांगुली के माथे पर तान दी थी बंदूक

दोस्तो दुनिया में सबसे ज्यादा देखे जाने वाला खेल क्रिकेट है । लोग क्रिकेट और क्रिकेटर्स के पीछे इतने दीवाने है कि कुछ लोग तो क्रिकेटर्स को पूजते है । क्रिकेटर्स बहुत बड़े सेलिब्रिटी है इसलिए बहुत से लोगो का मानना है कि उन्हें कभी कोई प्राब्लम नही होती । उन्हे कोई दुख नही होता वो शान से लग्जरी लाइफ स्टाइल का लुत्फ उठाते है । तो बता दे जैसा आप सोच रहे है ऐसा बिल्कुल भी नही है कुछ क्रिकेटर्स ऐसे भी है जो मौ त के मुंह तक जाकर वापिस आए है । तो चलिए जानते है कौन है वो खिलाड़ी जो मौ त को मात देकर वापिस लौटे है ।

सौरव गांगुली


इंग्लैंड के महान क्रिकेटर इयान बॉथम ने बीफी क्रिकेट टेल्स में बताया है कि कैसे एक दौर में सौरव गांगुली को लगा था कि वे बच नहीं पाएंगे। दरअसल गांगुली के सामने इंग्लैंड के कुछ शराबी टीनेजर्स बदतमीजी कर रहे थे।इसके बाद गांगुली और इन लोगों की बहस हो गई थी। गांगुली ने इनमें से एक शख्स को धक्का दे दिया था जिसके बाद वहां मौजूद एक और लड़के ने गन निकाल कर गांगुली के सर पर तान दी थी। गांगुली के होश फाख्ता हो गए थे हालांकि उनके एक दोस्त ने बीच-बचाव कर स्थिति को संभाल लिया था।

जेसी राइडर

न्यूजीलैंड के ओपनर जेसी राइडर अपने करियर के अच्छे दौर में थे जब एक बार फाइट में उन्हें बुरी तरह पीट दिया गया था। हालात ऐसे हो गए थे कि राइडर कोमा में चले गए थे और इसके चलते उनका क्रिकेट करियर भी खत्म हो गया था। हालांकि राइडर इस बात के शुक्रगुजार हैं कि उनकी जान बच गई क्योंकि वे एक दौर में जिंदगी और मौत से जूझ रहे थे।

निकोलस पूरन

 

View this post on Instagram

 

A post shared by SunRisers Hyderabad (@sunrisershyd)


वेस्टइंडीज के विस्फोटक बल्लेबाज निकोलस पूरन का एक भयानक कार एक्सीडेंट हो गया था। पूरन की कार को पीछे से आती एक कार ने जोरदार टक्कर मार दी थी जिसके बाद पूरन की हालत काफी बिगड़ गई थी। हालांकि डॉक्टर्स की कड़ी मेहनत के बाद पूरन की जान बच गई थी और फिलहाल वे आईपीएल में कमाल की बल्लेबाजी कर रहे हैं।

दिनेश चांदीमल

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Dinesh.Chandimal (@d.chandi36)


श्रीलंकाई क्रिकेटर दिनेश चंदीमल सिर्फ 15 साल के थे जब उनके गांव में भयानक सुनामी आ गई थी। चंदीमल का ना केवल पड़ोस, बल्कि सोसाइटी और पूरा गांव ही सुनामी की भेंट चढ़ गया था। दिनेश अपनी मां की आवाज सुनकर चौकन्ने हो गए थे और किसी तरह मौत को मात देकर अपने गांव से निकल आए थे। इसके बाद उन्होंने श्रीलंका क्रिकेट को अपनी सेवाएं दी थीं।

वसीम अकरम

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Wasim Akram (@wasimakramliveofficial)


पाकिस्तान के लेजेंडरी गेंदबाज वसीम अकरम एक बार कराची में अपनी कार से जा रहे थे। उनकी कार को किसी ने पीछे से टक्कर मार दी थी। जब अकरम अपनी गाड़ी से उतरे तो इस शख्स ने ओपन फायरिंग करनी शुरु कर दी थी। वसीम अकरम उस हमले में बाल-बाल बचे थे।

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.