free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / झेल सीमा की निगरानी के लिए ये जवान अकेला सहता रहा बर्फ के भयंकर थपेड़े, तस्वीरे देख लोगो के रोंगटे खड़े हो गये

झेल सीमा की निगरानी के लिए ये जवान अकेला सहता रहा बर्फ के भयंकर थपेड़े, तस्वीरे देख लोगो के रोंगटे खड़े हो गये

दोस्तों जैसा की सभी को पता है बर्फबारी होने के बाद पहाड़ो ने सफेद चादर ओढ़ ली है सोशल मिडिया पर सभी बर्फ की खुबसूरत तस्वीरे पोस्ट कर रहे है .जन्हा सब बर्फबारी होने पर अपने परिवार और दोस्तों के साथ बर्फबारी का लुत्फ़ उठाने पहाड़ी इलाको की और निकल पड़ते है और खूब एन्जॉय करते है .तस्वीरे लेते है और उन्हें सोशल मिडिया पर डाल देते है यूजर्स भी इन तस्वीरो को काफी लाइक और कमेंट करते है . तो कुछ लोग ठण्ड से बचने  के लिए घरो में आग के पास बैठते है गर्म कपड़े पहने है और थोड़ी थोड़ी देर में चाय कॉफ़ी पीते रहते है . ऐसे में एक जवान की विडियो सामने आ रही है .जो इतनी बर्फबारी  में भी अपनी ड्यूटी  पूरी इमानदारी से कर रहा है . जिसे अपना फर्ज निभाने से न ठंडी हवाओ के थपेड़े रोक पा रहे है और न ही  ये ठण्ड ये जवान निडर होकर एक जह खड़ा इस विडियो ने लोगो के दिलो को छु लिया है .

बर्फ के थपेड़ो को झेलते हुये देश की सीमा की निगरानी करते एक जवान का 14 सेकेंड का वीडियो लोगों के दिलोदिमाग पर छा गया है।
अब घुटने तक गहरी बर्फ में खड़े सेना के जवान के एक अविश्वसनीय वीडियो ने नेटिज़न्स को चकित कर दिया है। रक्षा मंत्रालय के एक आधिकारिक ट्विटर प्रोफाइल, पीआरओ (जनसंपर्क अधिकारी) उधमपुर द्वारा साझा किया गया, यह क्लिप आपके रोंगटे खड़े कर देगा और देश के लिए लड़ने वालों के प्रति कृतज्ञता की भावना पैदा करेगा।

क्लिप में एक जवान बंदूक पकड़े हुए घुटने तक गहरी बर्फ में खड़ा है। सिपाही को मौके पर मजबूती से खड़ा देखा जा सकता है, यहां तक ​​​​कि उसके चारों ओर एक भयंकर बर्फीला तूफान भी आता है। वीडियो को रुडयार्ड किपलिंग की कविता फॉर ऑल वी हैव एंड आर के एक छंद के साथ साझा किया गया।

कैप्शन दिया गया है- कोई आसान आशा या झूठ नहीं। हमें हमारे लक्ष्य तक पहुंचाएगा, लेकिन शरीर, इच्छा और आत्मा का लौह बलिदान। सभी के लिए एक ही कार्य है। प्रत्येक को देने के लिए एक जीवन। स्वतंत्रता गिरने पर कौन खड़ा होता है?
वीडियो अब 561k से अधिक बार देखा जा चुका है और कई प्रतिक्रियाओं के साथ वायरल हो गया है। सैनिक के धैर्य और ताकत से कुछ दंग रह गए, तो कुछ ने ऐसी कठोर परिस्थितियों के बीच देश की रक्षा के लिए उन्हें सलाम किया।

 

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *