free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / मूछो के लिए इस राजपूत ने दांव पर लगाई नौकरी,अब मिली जीत

मूछो के लिए इस राजपूत ने दांव पर लगाई नौकरी,अब मिली जीत

दोस्तों ज्यादातर पुरुषो को दाढ़ी मुछे रखना अच्छा लगता है .वो कहते है न मुछे मर्दों की शान होती है .अब ऐसे में उनकी शान के खिलाफ यदि कोई कुछ बोल दे तो क्या होगा ये तो सभी को पता है . बहुत से पुरुष बड़ी बड़ी दाढ़ी मुछे रखते है लेकिन कई नौकरियों में बड़े बाल दाढ़ी मुछे रखने नही दी जाती अब ऐसे में उन्हें कोई शेव करने के लिए कह दे तो उन्हें कैसा महसूस होगा .हालही में एक एया मामला सामने आया है जिसमे एक शख्स की बड़ी मुछो के कारन उन्हें निलंबित कर दिया लेकिन उस शख्स ने बिलकुल भी हार नही मानी और अपनी ये लड़ाई तब तक लदी जब तक उसे जीत हासिल नही हुयी .

मध्य प्रदेश पुलिस में विशेष सशस्त्र बल (SAF ) के जवान राकेश राणा  ने मूंछों की लड़ाई जीत लिया है। बता दें कि सहायक पुलिस महानिरीक्षक ने राकेश राणा  को उनकी मूंछों की वजह से निलंबित कर दिया था। इसको लेकर सोशल मीडिया पर बहस छिड़ गई थी। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा (Madhya Pradesh Home Minister Dr. Narottam Mishra) ने इस मामले में डीजीपी (DGP) से रिपोर्ट तलब की थी। इसके बाद आखिरकार एडीजी अनिल कुमार (ADG Anil Kumar) ने राणा को नौकरी ज्वाइन करने के मौखिक आदेश दिए हैं। साथ ही उसका निलंबन खत्म हो गया है।

बता दें कि मध्य प्रदेश पुलिस  में एसएएफ (SAF ) के जवान राणा ने कैप्टन अभिनंदन जैसी मूंछें रखी हुई हैं। इसे लेकर सहायक पुलिस महानिरीक्षक प्रशांत वर्मा (Assistant Inspector General of Police Prashant Verma) ने उन्हें निलंबित कर दिया था। 7 जनवरी का यह आदेश भी सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसमें कहा गया था कि राणा की मूंछें और बाल ठीक से नहीं कटे हैं। इस वजह से टर्नआउट भद्दा है। हालांकि, इसके साथ ही राणा का बयान भी सामने आया। उन्होंने कहा था कि वह एक राजपूत है और मूछें नहीं कटवाएंगे। उनका कहना था कि हर जगह उनकी तारीफ होती है। लोग उनकी तुलना कैप्टन अभिनंदन  से करते हैं। जब सब अच्छा लग रहा है तो निलंबन आदेश क्यों? खैर, इस मसले पर छिड़ी बहस और उठे सवालों के बाद सोमवार को एडीजी अनिल कुमार  ने राणा को नौकरी ज्वाइन करने के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही मामले का पटाक्षेप हो गया है। राणा एमटी पुल में रिजर्व ड्राइवर के तौर पर काम करेंगे।

गृहमंत्री ने मांगी थी रिपोर्ट

डॉ. मिश्रा से जब राणा को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि एडीजी (ADG), एआईजी (AIG)और कांस्टेबल से बात करने को कहा है। ताकि इस मामले को खत्म किया जा सके। 12 बजे वे जब मेरे पास आएंगे तो मुझे बताएंगे कि इस मामले में क्या किया गया है?

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *