free tracking
Breaking News
Home / देश दुनिया / रूस यूक्रेन युद्ध के बीच 2 और देशो में हुआ तनाव,कर दिया मिसाइल से हमला

रूस यूक्रेन युद्ध के बीच 2 और देशो में हुआ तनाव,कर दिया मिसाइल से हमला

दोस्तों जैसा कि सभी को मालूम है रूस-यूक्रेन के बीच जंग जारी है .अभी इन दोनों देशो के बीच माहौल ठंडा नही हुआ कि दो और देशो के बीच तनाव की खबर सामने आई है .खबर के मुताबिक अमेरिकी रक्षा मंत्रालय  के अधिकारियों का कहना है कि रविवार को इराक  के इरबिल शहर  में अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के पास मिसाइलो से हमला हुआ है और उनका मानना  है कि ये हमला ईरान द्वारा किया गया है .फिलहाल इस हमले में कोई नुकसान नही हुआ है . क्या है पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े .

विदेशी मीडिया ने क्या कहा?

बाद में कुर्दिस्तान के विदेशी मीडिया कार्यालय के प्रमुख लॉक घाफरी ने कहा कि कोई भी मिसाइल अमेरिकी प्रतिष्ठान में नहीं गिरी, लेकिन परिसर के आसपास के क्षेत्रों में गिरी हैं. अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि अभी यह स्पष्ट नहीं है कि कितनी मिसाइल दागी गईं और वे कहां गिरीं. एक दूसरे अधिकारी ने कहा कि अमेरिकी सरकार के किसी भी कार्यालय को नुकसान नहीं पहुंचा है और इस बात के भी संकेत नहीं हैं कि निशाना वाणिज्य दूतावास (US Consulate) था.

इस शर्त पर दी जानकारी

इराक (Iraq) और अमेरिका के अधिकारियों ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर यह जानकारी दी. टेलीविजन चैनल कुर्दिस्तान 24 का कार्यालय अमेरिकी वाणिज्य दूतावास के पास ही है और उसने हमले के बाद अपने कार्यालय में कांच के टुकड़े और मलबे की तस्वीरें दिखाईं. ईरान (Iran) के एक प्रवक्ता ने इरबिल में हमले में ईरान का हाथ होने के आरोपों से इनकार किया है.

ईरान का बयान

ईरान की राष्ट्रीय सुरक्षा पर संसदीय समिति के प्रवक्ता महमूद अब्बासजाहेद ने कहा कि आरोपों की पुष्टि नहीं की जा सकी है. उन्होंने एक स्थानीय समाचार वेबसाइट को दिए साक्षात्कार में कहा, ‘अगर ईरान बदला लेने का निर्णय ले ले, तो वह बहुत ही गंभीर और दमदार होगा.’ इराक के सुरक्षा अधिकारियों ने बताया कि हमले में फिलहाल किसी के हताहत होने की सूचना नहीं है. ये हमले आधी रात के ठीक बाद में किए गए हैं और इनसे क्षेत्र में इंफ्रास्ट्रक्चरल नुकसान हुआ है.

‘बैलेस्टिक मिसाइल ईरान से दागी गईं’

एक दूसरे अधिकारी ने भी कहा कि बैलेस्टिक मिसाइल ईरान से दागी गईं. उन्होंने कहा कि मिसाइल्स ईरान निर्मित फतेह-110 थीं और इन्हें संभवतः सीरिया में दो रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के मारे जाने के प्रतिशोध में दागा गया है. एक अन्य अमेरिकी (American) अधिकारी ने एक बयान में कहा कि अमेरिका ‘इराकी संप्रभुता (Sovereignty) के खिलाफ हमले और हिंसा के प्रदर्शन’ की निंदा करता है.

फिलहाल किसी के हताहत होने की सूचना नहीं’ 

गौरतलब है कि पहले भी इरबिल के हवाई अड्डा परिसर में तैनात अमेरिकी बल रॉकेट और ड्रोन हमलों की चपेट में आ चुके हैं, और इनके लिए अमेरिकी अधिकारियों ने ईरान समर्थित समूहों को दोषी ठहराया था.

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.