free tracking
Breaking News
Home / देश दुनिया / सूरत के व्यापारी ने निभाया पिता का फ़र्ज़, 300 गरीब बेटियों की शादी रचा के किया कन्यादान

सूरत के व्यापारी ने निभाया पिता का फ़र्ज़, 300 गरीब बेटियों की शादी रचा के किया कन्यादान

दोस्तों बहुत से लोग होते है जो डोनेशन और चैरिटी देकर बहुत से जरूरतमन्दो की मदद करते है .लेकिन एक शख्स ऐसे भी है जो हर साल ऐसा पुन्य का काम करते है . जिसके लिए हर कोई उनकी तारीफ करता है .दरअसल ये शख्स हर साल उन बहुत सी बेटियों की शादी करवा कर उनका घर बसाते है जिनके पिता अब इस दुनिया में नही रहे .हर साल की तरह इस साल दिसम्बर में भी उन्होंने 300 बेटियों की शादी करवाने का आयोजन किया है .

सूरत के हीरा व्यापारी महेश सवाणी की ओर से हर साल पिता का साया खो चुकीं बेटियों की शादी करने का आयोजन किया जाता है। इस साल भी ‘चुनरी महियर’ के नाम से सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया है, जिसमें 300 बेटियों का विवाह होगा। आगामी 4-5 दिसंबर को होने वाले सामूहिक विवाह समारोह के संबंध में शनिवार-रविवार को बैठक आयोजित की गई। बैठक में दो दिन में 240 बेटियां अपनी मां और रिश्तेदारों के साथ शामिल हुईं।

बैठक में शादी का सपना साकार होते देख पिता की छत्रछाया खो चुकीं बेटियाें की आंखें छलक आईं। बता दें, पीपी सवाणी परिवार द्वारा वर्ष 2008 से अलग-अलग राज्यों, जातियों और धर्मों की बेसहारा बेटियों का सामूहिक विवाह कराया जाता है। सामूहिक विवाह कार्यक्रम अब्रामा में आयोजित किया जाता है। इस साल 4 और 5 दिसंबर को बेटियों की शादी होनी है।

शनिवार-रविवार को इस संबंध में बैठक आहूत की गई थी, जिसमें बेटियां अपनी मां के साथ मौजूद थी। सामूहिक विवाह में शामिल होने वाली कई बेटियाें के माता-पिता दोनों ही जीवित नहीं हैं। घर जैसे शादी का माहौल और तैयारियों को देखकर बेटियों के आंसू छलक पड़े। बैठक में कई भावुक दृश्य देखने को मिले।

गाइडलाइन का पालन किया जाएगा आयोजक महेश सवाणी ने बताया कि इस साल 300 बेटियों के सामूहिक विवाह का आयोजन किया गया है। कोरोना संक्रमण की स्थिति रही तो सरकार की गाइडलाइन का पूरी तरह से पालन किया जाएगा। अगर ऐसा भी संभव नहीं हो सका तो हर बेटी की शादी उसके घर पर करवाएंगे। यह कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है। हर बार की तरह इस बार भी भाजपा, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के नेताओं को बुलाएंगे। शादी में आने वाले सभी नेताओं का स्वागत किया जाएगा।

बेटी के लिए ये पल बेहद भावुक पीपी सवाणी ग्रुप से जुड़ी रिद्धि पटेल ने बताया कि सामूहिक विवाद की तैयारियां शुरू हो गई हैं। शनिवार को हुई बैठक में मौजूद बेटियां माता-पिता का जिक्र करते हुए भावुक होकर रोने लगीं। इससे बैठक में मौजूद सभी लोग भी भावुक हो गए। रिद्धि ने बताया कि संस्था द्वारा पूरी कोशिश की जाती है कि शादी के दौरान बेटियों को माता-पिता की कमी न खले। इसलिए शादी के दौरान घर में होने वाली सभी रश्मों को किया जाता है। उनके परिवार और रिश्तेदारों को भी शामिल किया जाता है। समूह लग्न की तैयारी के लिए हुई बैठक में बेटियां अपनी मां और संबंधियों के साथ शामिल हुईं।

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *