free tracking
Breaking News
Home / जरा हटके / सनी देओल और प्रियंका चोपड़ा के बेटे ने परीक्षा में पूछे सवालों का दिया ऐसा जबाब कि टीचर्स के छुटे पसीने

सनी देओल और प्रियंका चोपड़ा के बेटे ने परीक्षा में पूछे सवालों का दिया ऐसा जबाब कि टीचर्स के छुटे पसीने

मित्रों जैसा की आप सभी अवगत ही होगें कि हमारी इस दुनिया में ऐसी कई अजीबो गरीब बाते होती रहती है, जिन्हें सुनने के बाद जल्द उनपर यकीन नही हो पाता है, कि आखिर यह भी हो सकता है, आस पास की कभी कुछ ऐसी घटनाये हमारे सामने आती है जो सुनने के पश्‍चात काफी हैरा-नी होने लगती है। ऐसी ही एक घटना इन दिनों सोशल मीडिया में काफी सुर्खियों में बनी हुई है, जिसके अनुसार बताया जा रहा हैं कि बेतिया में परीक्षा दे रहा है सनी देओल और प्रियंका चोपड़ा का बेटा, सवालों के जवाब देखने के बाद वहां के टीचर्स के भी पसीने छूटे। आएये जाने आखिर क्या है ये पूरा मामला। जिसको लेकर सोशल मीडिया पर काफी ब-वाल बचा हुआ है।

दरअसल बिहार के अन्य जिलों की तरह ही पश्चिम चंपारण के बेतिया स्थित राम लखन सिंह यादव महाविद्यालय में भी बारहवीं प्री-बोर्ड की परीक्षा चल रही है। इसमें एक परीक्षार्थी ने अपनी कॉपी पर शरारतन अपनी मां का नाम प्रियंका चोपड़ा और पिता का नाम सनी देओल लिख दिया। यह कापी इंटरनेट मीडिया पर वायरल हो गई। लोग इस पर खूब कमेंट कर रहे हैं। साथ ही एक-दूसरे से सवाल भी कर रहे हैं कि क्या प्रियंका चोपड़ा-सनी देओल का बेटा बिहार से इंटर की पढ़ाई कर रहा है? हालांकि, हम इस कॉपी की सत्यता को प्रमाणित नहीं करता है। उस परीक्षार्थी की शरारत का अंत वहीं पर नहीं हुआ। परीक्षा के दौरान एक सवाल पूछा गया था कि वह पुरातत्व से क्या समझता है। इसके जवाब में छात्र ने लिख दिया- “यह मेरे मास्टर ने नहीं पढ़ाया है, मैं पुरातत्व से कुछ नहीं समझता हूं।”

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि जब एक अन्य सवाल अकबर ने जजिया कर क्यों हटाया पूछा गया। इस सवाल का परीक्षार्थी ने विचित्र जवाब लिख दिया। छात्र ने लिखा है कि ‘रजिया से प्यार के कारण अकबर ने जजिया कर हटा दिया…।’ उस उत्तर पुस्तिका पर इतिहास पर पूछे गए सवालों का विचित्र जवाब लिखा है। बहरहाल, कॉलेज प्रशासन ने घटना की जानकारी होने के बाद जांच शुरू कर दी है कि आखिर कापी इंटरनेट मीडिया तक कैसे पहुंची? इसके बाद जो किरकिरी हो रही है, उससे खुद को बचाने के उपाय में कॉलेज प्रशासन लग गया है। मनोरंजन की बात से इधर कुछ लोग इस घटना को सूबे की शिक्षा व्यवस्था को आइना दिखाने वाला बता रहे हैं। उनका मानना है कि जब बच्चों को पढ़ाया नहीं जाएगा और केवल परीक्षा ली जाएगी तो इस तरह की घटनाएं तो होंगी हीं। इस जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्‍या प्रतिक्रियायें है? कमेंट बॉक्‍स में अवश्‍य लिखें। मित्रो अधिक रोचक बाते व लेटेस्‍ट न्‍यूज के लिये आप हमारे पेज से जुड़े और अपने दोस्तो को भी इस पेज से जुड़ने के लिये भी प्रेरित करें।

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *