free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / करोली के बाद अब कर्नाटक में भगवान राम की मूर्ति पर हुआ पथराव,कई गाड़ियों में लगाई आग

करोली के बाद अब कर्नाटक में भगवान राम की मूर्ति पर हुआ पथराव,कई गाड़ियों में लगाई आग

दोस्तों जैसा कि सभी को मालूम है देश में हर त्यौहार धूमधाम के साथ मनाया जाता है .इसीलिए रामनवमी की पूर्व संध्या पर बड़े  धूमधाम के साथ शोभा यात्रा निकाली गयी .  सभी बेहद खुश थे और शोभा यात्रा का आनंद  ले रहे थे लेकिन कुछ दूर जाने पर अचानक से भगवान राम की मूर्ति पर पथराव होने लगा . उस इलाके में बिजली गुल होंने की वजह से उपद्रवियों ने इस बात का लाभ उठाया . अचानक  हुए पथराव से ख़ुशी का माहौल तनाव में बदल गया . बहुत से लोगो के घायल होने की खबर भी सामने आ रही है . इससे पहले भी ऐसी ही एक घटना करौली में हो चुकी है . इस मामले की पूरी जानकारी के लिए खबर को अंत तक जरुर पढ़े .

पुलिस के मुताबिक, इस घटना के बाद मुलबगल  में CrPC (आपराधिक दंड प्रक्रिया संहिता) की धारा-144 के तहत निषेधाज्ञा लागू कर दी गई है और पाँच लोगों को हिरासत में ले लिया गया है।पुलिस ने बताया कि रामनवमी की पूर्व संध्या पर आयोजित शोभा यात्रा शुक्रवार (8 अप्रैल 2022) दोपहर को शिवकेशव नगर से शुरू हुई। शोभायात्रा जैसे ही जहाँगीर मोहल्ले की ओर बढ़ने लगी, अचानक 7.40 बजे बिजली कट गई और शरारती तत्वों ने भगवान राम की मूर्ति पर पथराव करना शुरू कर दिया। मौके पर मौजूद पुलिस ने हल्के बल का प्रयोग करते हुए स्थिति को नियंत्रित किया। फिलहाल इलाके में कड़े पुलिस बंदोबस्त किए गए हैं।पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बदमाशों ने इस दौरान दो कारों के शीशे भी तोड़ दिए और एक बाइक में आग लगा दी। इस घटना में कुछ युवक घायल भी हो गए हैं। कोलार के एसपी डी देवराज ने कहा कि शुक्रवार को शोभा यात्रा के लिए बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था, लेकिन बिजली की की सप्लाई बंद होने की वजह से बदमाश मौका का फायदा उठाने मे कामयाब रहे। इस मामले की जाँच की जा रही है।

बता दें कि हिंसाग्रस्त मुलबगल में आगजनी, तोड़फोड़ और पथराव से हर तरफ अफरा-तफरी का माहौल था। उपद्रवियों ने इलाके में काफी देर तक उत्पात मचाया। फिलहाल, इलाके में प्रशासन की अनुमति के बिना किसी तरह के धार्मिक जुलूस निकालने की इजाजत नहीं है। पुलिस उपद्रवियों की तलाश कर रही है। बीते दिनों राजस्थान के करौली में भी हिंदू नव वर्ष के शुभ अवसर पर हिंदू समुदाय पर हिंसक हमला हुआ था।करौली हिंसा गौरतलब है कि राजस्थान के करौली में हिन्दू नव वर्ष के जुलूस पर 2 अप्रैल को हिंसा हुई थी। दुकानों में आगजनी की गई। इसमें पुष्पेंद्र नाम का एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया था। उसके शरीर पर चाकू से हमले के निशान थे। उपद्रवियों को काबू करते हुए पुलिस के 4 जवान भी घायल हुए थे। कुल 43 लोगों के घायल होने की खबर मीडिया में आई थी। इसके बाद मामले में जाँच शुरू हुई और पीएफआई का एक पत्र सामने आया, जिसने इस हिंसा के सुनियोजित होने की ओर इशारा किया था। बाद में कांग्रेस  नेता मतबूल अहमद की भूमिका भी हिंसा में पाई गई।

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.