Breaking News
Home / ताजा खबरे / जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में बीजेपी की जीत पर, बिलख बिलख रो रहे सपा नेता

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में बीजेपी की जीत पर, बिलख बिलख रो रहे सपा नेता

उत्तर प्रदेश(Uttar Pradesh) के जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में बीजेपी(BJP) ने बंपर जीत हासिल की है। सूबे में भाजपा ने 75 में से 67 सीटों पर अपना परचम लहराया है। उत्तर प्रदेश में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव(UP Assembly Election 2022) से पहले इन चुनावों को सारी पार्टियां सेमीफाइनल के तौर पर देख रही थी। हालांकि बीजेपी ने 75 में से 67 सीटें जीत कर विधानसभा चुनावों में अपनी दावेदारी मजबूती से पेश की है। खबर है कि एक सीट से जब सपा उम्मीदवार, बीजेपी उम्मीदवार के सामने जीत दर्ज नहीं कर पाई तो, वह बिलख बिलख कर रोने लगी। आइए आपको पूरी ख़बर विस्तार से समझाते हैं।

रुचि यादव को पीछे छोड़ हर्षिता सिंह ने दर्ज की जीत

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद(Firozabad) सीट से भी बीजेपी(BJP) की ही जीत हुईं। बीजेपी समर्थित हर्षिता सिंह(Harshita Singh) ने इस सीट से चुनाव जीता। दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी(Samajwadi Party)  उम्मीदवार रुचि यादव(Ruchi Yadav) को इसमें हा र का सामना का सामना करना पड़ा। तो रुचि यादव अपनी हा र बर्दाश्त नहीं कर पाई और फूट फूट कर रोने लगी। इसके बाद अनाप शनाप बयानों की झड़ी लग गई।

सपा प्रत्याशी ने लगाए हेराफेरी के इल्जाम

गौरतलब है कि जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव हा रने के बाद समाजवादी उम्मीदवार ने कहा कि उनको जान बूझकर ह राया गया। उन्होंने कहा कि हमारे पास पर्याप्त जिला पंचायत के सदस्य थे, फिर भी हमें जीतने नहीं दिया गया। यह कहीं न कही व्यवस्था पर प्रश्नचिन्ह खड़े करता है। साथ ही सपा समर्थित तीन वोटों को रद्द कर दिया गया। इसके अलावा अन्य  लोगो को धम काकर बीजेपी के पक्ष में वोट डलवाया गया। आपको बता दें कि मीडिया के सामने अपनी बात रुचि रख रही थीं। इस दौरान उनकी आंखों में आंसू भी आ गए और वो रो पड़ीं। उन्होनें सपा के सदस्यों को वोट डलवाने से पहले विप क्षियों के पास ले जाने का आ रोप लगाया।

सपा उम्मीदवार के पक्ष में 12 वोट ही पड़े

आपको बता दें कि फिरोजाबाद में जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए सभी 33 सदस्यों ने मतदान किया था। इस दौरान बीजेपी प्रत्याशी हर्षिता सिंह को 18 वोट मिले, जबकि 12 वोट समाजवादी पार्टी प्रत्याशी के पक्ष में पड़े। इसके अलावा 3 वोटों को रद्द किया गया और इस तरह हर्षिता ने इस सीट पर जीत दर्ज की। गौरतलब है कि पूर्व समाजवादी पार्टी सांसद अक्षय यादव और MLA दिलीप यादव खुद सुबह 17 जिला पंचायत सदस्यों को लेकर जिला पंचायत भवन पहुंचे थे। लेकिन सपा प्रत्याशी के समर्थन में केवल 12 वोट होने के कारण उन्हें जीत नसीब न हो सकी।

 

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *