free tracking
Breaking News
Home / बॉलीवुड / रामायण में काम करके त्रिजटा राक्षसी बनी कलाकार बन गयी थी मा,बाद में कही ये बात

रामायण में काम करके त्रिजटा राक्षसी बनी कलाकार बन गयी थी मा,बाद में कही ये बात

दोस्तों वैसे तो दर्शको के मनोरंजन  के  लिए कितने ही धारावाहिक बनाये गये है लेकिन रामानंद सागर के निर्देशन में बनी रामायण जैसा कोई धारावाहिक नही बना . ये धारावाहिक इतना ज्यादा पोपुलर हुआ था कि घर घर में इसमें अभिनय करने वाले किरदारों को पूजा जाने लगा था .रामायण के शुरू होने से पहले ही सभी अपने अपने काम निपटा कर टेलीविजन के सामने बैठ जाते थे .रामायण में हर किरदार की अहम भूमिका था .सभी ने अपना अपना किरदार बखूबी निभाया .रामानंद सागर ने हर किरदार के लिए चुन चुन कर कलाकार ढून्ढ निकाले जिन्हें आज भी याद किया है .

इन किरदारों की पापुलैरिटी का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि रामायण के सभी किरदार अपने असली नाम से नहीं बल्कि अपने रामायण में निभाए गए किरदार के नाम से दुनिया भर में प्रसिद्ध हुए हैं।आज हम रामायण के एक ऐसे ही किरदार के बारे में बात करने जा रहे हैं जोकि अपनी बेहतरीन अदाकारी से घर-घर में काफी ज्यादा मशहूर हुई थी दरअसल हम बात कर रहे हैं रामायण में राक्षसी त्रिजटा का किरदार निभाने वाली अदाकारा विभूति परेश चंद्र दवे ने जो कि अब इस दुनिया में नहीं है। बता दे 13 अगस्त साल 2006 में विभूति हार्ट अटैक की वजह से इस दुनिया को हमेशा के लिए अलविदा कह गई थी ।

आज भले ही विभूति इस दुनिया में नहीं है मगर रामायण में निभाए गए अपने किरदार की वजह से विभूति सदैव इस दुनिया में अमर रहेंगी|बता दें रामायण में त्रिजटा एक राक्षसी थी जोकि माता सीता का बहुत ही अच्छे से ख्याल रखती थी और जब रावण ने माता सीता का हरण करके उन्हें अशोक वाटिका में रखा था तब त्रिजटा ही थी जो माता सीता के साथ हमेशा साए की तरह रहती थी और वह भले ही राक्षस कुल की थी परंतु उनके मन में ममता कूट-कूट कर भरी थी और ऐसे में जब माता सीता मुश्किल वक्त में थी तब त्रिजटा ने उनका साथ दिया और उन्हें सहानुभूति भी दिया करती थी|

रामायण में त्रिजटा के इस किरदार को विभूति परेश चंद्र दावे नाम की महिला ने निभाया था और आपको बता दें विभूति का एक्टिंग की दुनिया से कोई भी लेना-देना नहीं था परंतु सिर्फ रामानंद सागर के कहने पर विभूति ने इस किरदार के लिए हां कह दिया था और उन्होंने इस किरदार को इतनी खूबसूरती से निभाया कि आज भी विभूति अपने त्रिजटा के किरदार के लिए जानी जाती है| मीडिया रिपोर्ट के अनुसार विभूति असल जिंदगी में गोरी रंगत की थी परंतु त्रिजटा के किरदार के लिए मेकअप के सहारे उड़ी सावला रंग दिया जाता था| इसके अलावा विभूति के बारे में कहा जाता है कि रामायण में काम करने से पहले तक विभूति की कोई भी संतान नहीं थी परंतु जब वो रामायण में काम कर रही थी उसी दौरान उन्होंने अपनी बेटी को जन्म दिया था और उन्हें मां बनने का सुख मिला था|

रामायण में माता सीता का किरदार निभा चुकी अदाकारा दीपिका चिखलिया ने विभूति के बारे में बात करते हुए कहा था कि,” मैं विभूति से ज्यादा बातें तो नहीं करती थी परंतु मैं इतना जानती हूं कि वह सूरत की रहने वाली थी और विभूति पेशे से कोई अदाकारा नहीं थी बल्कि वह एक साधारण महिला थी| दीपिका ने बताया था कि विभूति की पहले कोई संतान नहीं थी और जब रामायण भी काम करने के दौरान उन्हें मातृत्व का सुख प्राप्त हुआ तब वह बेहद खुश हुई थी और उन्होंने यह कहा था कि मैंने रामायण में काम किया है और इसी वजह से ईश्वर ने मेरी गोद भर दी और मुझे बेटी पैदा हुई है| दीपिका ने बताया कि विभूति की इन बातों की चर्चाएं रामायण के सेट पर भी हुआ करती थी|

आपको बता दें कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर ऐसी खबरें काफी ज्यादा वायरल हुई थी की रामायण में त्रिजटा का किरदार निभाने वाली एक्ट्रेस विभूति बॉलीवुड एक्टर आयुष्मान खुराना की सास है लेकिन यह खबरें गलत थी और खुद आयुष्मान खुराना की पत्नी ताहिरा कश्यप ने मीडिया के सामने इस बात का खुलासा किया था कि उनकी मां ने रामायण में कभी काम किया ही नहीं है|

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *