free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / 15 मिनट तक भीड़ में फस गए PM मोदी,किसानों ने रोका मोदी का रास्ता,गुस्से में मोदी ने रदद् की रैल्ली

15 मिनट तक भीड़ में फस गए PM मोदी,किसानों ने रोका मोदी का रास्ता,गुस्से में मोदी ने रदद् की रैल्ली

दोस्तों जब भी  प्रधानमंत्री देश के किसी भी राज्य ,जिले या गाँव में जाते है तो उनकी सुरक्षा और अन्य सुविधाओ को ध्यान में रखकर खास इंतजाम किये जाते है.ताकि प्रधान मंत्री जी को किसी प्रकार की कोई असुविधा या समस्या का सामना न करना पड़े . लेकिन एक  रैली के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी पंजाब आये हुए थे . लेकिन इस दौरान मोदी जी को बहुत सी समस्याओ को सामना करना पडा . किसी  भी प्रकार के खास इंतजाम नही किये  गये थे . काफी देर तक मोदी जी को सडक पर इंतज़ार करना पडा .जिसकी वजह से मोदी जी काफी नाराज दिखाई दे रहे थे . सुरक्षा का भी कोई ख़ास बन्दोबस्त नही किया गया था . इन सब हालातो को देखते हुए रैली को रद्द करने का निर्णय लिया गया .अब इसका जिम्मेदार किसको ठहराया जायेगा .

हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को आज पंजाब के फिरोजपुर में रैली करनी थी, लेकिन आखिरी मौके पर कार्यक्रम रद्द हो गया. पहले रैली रद्द होने के पीछे बारिश को वजह माना जा रहा था लेकिन अब इसके पीछे सुरक्षा कारणों का हवाला दिया जा रहा है. गृह मंत्रालय की तरफ से इसपर बयान जारी किया गया है और पंजाब सरकार से जवाब भी मांगा गया है. बीजेपी ने इसपर सीएम चन्नी का इस्तीफा मांगा है.गृह मंत्रालय की तरफ से जो बयान जारी किया गया है उसमें लिखा है कि पीएम सुबह बठिंडा पहुंचे थे. फिर वहां से उनको हेलिकॉप्टर से हुसैनीवाला में राष्ट्रीय शहीद स्मारक जाना था.

जैसे की मौसम खराब होने क वजह से ऐसा नहीं हो सका और बारिश और कम दृश्यता की वजह से पहले पीएम को 20 मिनट इंतजार करना पड़ा. फिर आसमान साफ ना होता देख उन्होंने सड़क मार्ग से वहां जाने का फैसला किया. इसमें करीब 2 घंटे लगने थे. इसके बारे में पंजाब पुलिस के डीजीपी को बताकर आवश्यक सुरक्षा व्यवस्था की रजामंदी ली गई.आगे बताया गया कि जब काफिला राष्ट्रीय शहीद स्मारक से 30 किलोमीटर दूर था तब रास्ते में एक फ्लाईओवर आया. वहां रास्ते को प्रदर्शनकारियों ने रोका हुआ था. उस फ्लाईओवर पर पीएम मोदी का काफिला 15-20 मिनट फंसा रहा. इसे गृह मंत्रालय ने पीएम की सुरक्षा में बड़ी चूक माना है.

गृह मंत्रालय ने कहा कि पीएम के ट्रेवल प्लान के बारे में पंजाब सरकार को पहले से बताया गया था. इसको ध्यान में रखकर उनको सही तैयारी, व्यवस्था और सुरक्षा के इंतजाम करने थे और आकस्मिकता को ध्यान में रखकर भी तैयार रहना था. आकस्मिकता प्लान को ध्यान में रखकर पंजाब सरकार को सड़क मार्ग पर भी अतिरिक्त पुलिस लगानी थी जो कि नहीं किया गया.आगे कहा गया है कि सुरक्षा में हुई इस चूक के बाद काफिले को वापस बठिंडा एयरपोर्ट की तरफ मोड़ लिया गया. गृह मंत्रालय ने बताया कि उन्होंने इस मसले का संज्ञान लिया है और इसे सुरक्षा में गंभीर चूक माना है, जिसकी विस्तृत रिपोर्ट राज्य सरकार को देनी होगी. राज्य सरकार को यह भी साफ करना होगा कि चूक किसकी वजह से हुई और उसपर सख्त एक्शन लेना होगा.

वही अब बीजेपी के कई नेता अब इसके खिलाफ खड़े हुए है और वहीं बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष अश्विनी शर्मा ने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पंजाब आकर यहां की जनता को पैकेज (परियोजनाओं का ऐलान) देना चाहते थे. लेकिन उनको ऐसा नहीं करने दिया गया. उनको कार्यक्रम स्थल तक नहीं पहुंचने दिया गया. पीएम मोदी को सुरक्षा नहीं दी गई. सीएम चन्नी को इस्तीफा देना चाहिए.

 

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *