Breaking News
Home / राजनीती / चुनाव से पहले मथुरा-काशी की मस्जिद को कर दिया जाएगा ध्वस्त SC पूर्व न्यायधीश का बड़ा दावा

चुनाव से पहले मथुरा-काशी की मस्जिद को कर दिया जाएगा ध्वस्त SC पूर्व न्यायधीश का बड़ा दावा

सुप्रीम कोर्ट  के पूर्व जस्टिस मार्केंडेय काटजू  अक्सर अपने बयानों को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। अभी हाल में ही उनके एक फेसबुक  पोस्ट पर दिए बयान से सियासी सुगबुगाहट तेज हो गई है। उन्होंने अपनी फेसबुक पोस्ट में मथुरा-काशी को लेकर क्या कुछ लिखा है, आइए आपको बताते हैं-

फेसबुक पोस्ट पर मचा बवाल

आपको बता दें कि 5 जून 2021 को उनका एक फेसबुक पोस्ट ख़ूब शेयर किया जा रहा है। इस फेसबुक पोस्ट में उन्होंने लिखा है, “अभी तो यह झाँकी है, काशी मथुरा बाकी है।” जो लोग चिल्ला रहे हैं कि भाजपा(BJP) की लोकप्रियता घट रही है, वह भूल गए हैं कि उत्तर प्रदेश  का चुनाव अभी दूर है।” उन्होंने आगे बताया कि चुनाव से कुछ समय पहले योजना बद्ध तरीके से धार्मिक सांप्र दायिक दं गे करवाए जाएँगे। जिससे हमारी मूर्ख जनता जिनके खोपड़े में सांप्र दायिकता का गोबर भरा है, उत्ते जित हो जाएगी और भड़ भड़ा कर बीजेपी को वोट दे देगी।

ट्रोल हुए पूर्व न्यायाधीश

पूर्व जस्टिस के इस पोस्ट को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों का गु स्सा फूट पड़ा है। ब्रिजेश द्विवेदी नाम के एक सोशल मीडिया यूजर ने उनकी पोस्ट का जबाब देते लिखा, ”एक पूर्व न्यायाधीश से ऐसे गिरे हुए वक्तव्य की उम्मीद नहीं थी। यह जानते हुए भी अयोध्या श्री राम की जन्मभूमि है, उनके लिए कई वर्षों तक मुक दमा ल ड़ा गया, न्यायालय के निर्णय उपरांत ही निर्माण प्रारंभ हुआ। अगर समय रहते न्याय मिल जाए तो लोग आंदो लित ही न हो। आप उक साने की बात हर समय करते हैं। सदैव हिंदुओं को आ क्रांता घोषित करने से नहीं चूकते हैं। अगर सच में हिंदू आक्रा मक हो जाए तो अनेक बीमा रियाँ ठीक हो जाएँ।”

पहले भी दे चुके है ऐसे बयान

पूर्व चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया मार्कंडेय काटजू कई अन्य यूजर्स के हाथ आ गए हैं। हालाँकि, यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी सुर्खियों में बने रहने के लिए वह उल जलूल बयान देते रहे हैं। साल 2015 में काटजू ने एक सेमिनार में भाषण देते हुए कहा था, “90 प्रतिशत भारतीय बेवकूफ होते हैं, जो धर्म के नाम पर आसानी से बहकावे में आ जाते हैं।” इसके अलावा उन्होंने आम आदमी पार्टी की शाजिया इल्मी को किरण बेदी से सुंदर बताया है। आप अंदाजा लगा सकते हैं, कि क्या एक पूर्व न्यायाधीश को ऐसे बयान देना शोभा देता हैं? उन्होंने कहा था, “मेरे जैसा आदमी जो आम तौर पर वोट नहीं देता (क्योंकि मैं सभी भारतीय राजनेताओं को ल फंगा और धूर्त समझता हूँ), केवल शाजिया को वोट देता हूँ।”

गौरतलब है काटजू सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं। उनके सोशल मीडिया अकाउंट पर हर रोज आपको कुछ न कुछ कंटेंट देखने को मिल जाएगा। इसमें से कुछ ऐसे पोस्ट भी होते हैं, जिसे कोई आम आदमी भी शेयर करने के लिए मजबूर हो जाएगा। लेकिन ये बेधड़क चर्चा में रहने के लिए ऐसा करते रहते हैं।

आपको बता दें कि अगले साल देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में विधानसभा के चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में पूर्व जस्टिस ऑफ इंडिया का माहौल खराब करने वाला ​बयान देना बेहद शर्मनाक है।

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *