Home / ताजा खबरे / एक और नयी बीमारी ने दी दस्तक

एक और नयी बीमारी ने दी दस्तक

करीब 10 महीने पहले शुरू हुई इस जा”नले’वा  म”हा’मारी का क़’हर अब भी भारत सहित  दुनियाभर में क़ायम है। वा”य’रस से सं”क्र’मित लोगों की संख्या के मामले में अ”मेरिका के बाद भारत दूसरा सबसे ज़्यादा प्रभावित देश है। इस म”’हामा’री  से अभी तक उबर नहीं पाए हैं कि इसी बीच एक और नयी  बीमारी ने दस्तक देकर सभी की नींद उड़ा दी है। पुरी जानकारी के लिए खबर को अंत तक पढ़े !

मिली जानकारी के अनुसार ची”न में एक और ख़”तरनाक सं’क्रामक बैक्टीरियल बीमारी अपना कहर बरपा रही है। को”’रो”’ना की तरह ये भी धीरे-धीरे काफी तेज़ी से बढ़ रही है। सा’उथ चा’इ’ना मोर्निंग पोस्ट के आंकड़ों के मुताबिक, गांसू प्रांत की राजधानी लान्जो में अबतक 3 हज़ार से ज़्यादा लोग ब्रूसीलोसिस नाम के इस बैक्टीरिया के शिकार हो चुके हैं। आपको बता दें कि ब्रूसीलोसिस इंसानों और जानवरों दोनों को ही प्रभावित करता है।

क्या है ब्रूसीलोसिस

ब्रूसीलोसिस एक बैक्टीरिया जनित बीमारी है जो खास तौर पर गाय, भेड़-बकरी, सुअर और कुत्तों को संक्रमित करती है। इंसानों में भी संक्रमण हो सकता है, अगर वे संक्रमित जानवर के संपर्क में आएं। जैसे कि संक्रमित पशु उत्पादों को खाने-पीने से या ऐसी हवा में सांस लेने से जहां बैक्टीरिया मौजूद हो। विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी WHO का कहना है कि अक्सर ये बीमारी संक्रमित जानवरों से नहीं बल्कि पाश्चरीकृत दूध या पनीर लेने से इंसानों में आ रही है। हालांकि, इसमें इंसानों से इंसानों में बेहद कम संक्रमण होता है। WHO के मुताबिक, ये बीमारी दुनिया के कई देशों में पाई जाती रही है। इसका इलाज भी संभव है हालांकि, दवाइयों का सिलसिला एक-डेढ़ महीने तक चल सकता है।

भारत में ब्रूसीलोसिस 

हाल ही में आई कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि यह बीमारी भारत में प्रवेश कर चुकी है और मनुष्यों के साथ जानवरों को भी प्रभावित करने लगी है। ऐसे में पहले ही कोरोना को लेकर चिंतित वैज्ञानिकों की चिंता इस बीमारी की वजह से और भी बढ़ गई है। वैज्ञानिक इस बात को लेकर चिंता में हैं कि अगर ये बीमारी भी कोविड-19 की ही तरह महामारी का रूप ले लेगी, तो ये देश के लिए बेहद ख़तरनाक साबित हो सकती है।

क्या हैं इसके लक्षण?

बीमारी के लक्षण आने में एक हफ्ते से लेकर दो महीने भी लग सकते हैं, लेकिन अक्सर दो से चार हफ्ते में लक्षण दिखने लगते हैं। इसके लक्षण हैं- बुखार, पसीना आना, थकान, भूख न लगना, सिर दर्द, वज़न घटना और मांसपेशियों में दर्द। कई लक्षण लंबे वक्त तक रह सकते हैं और कुछ कभी नहीं जाते। जैसे कि बार-बार बुखार होना, जोड़ों में दर्द, अंडकोष में सूजन, दिल या लिवर में सूजन, दिमागी लक्षण, थकान, तनाव आदि।

ब्रूसीलोसिस के लिए भी नहीं है वैक्सीन 

रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि दोनों बीमारियों यानी कोरोना वायरस और ब्रूसीलोसिस के लक्षण लगभग एक जैसे हैं। हालांकि, इनमें एक अंतर यह है कि ब्रूसीलोसिस के रोगियों में गठिया, स्पॉन्डिलाइटिस (रीढ़ की सूजन) और अंडकोष में सूजन के भी लक्षण नज़र आते हैं। एक और बड़ा अंतर यह है कि कोविड-19 के लिए कोई इलाज उपलब्ध नहीं है, लेकिन ब्रूसीलोसिस के इलाज के लिए कई एंटीबायोटिक्स उपलब्ध हैं। वहीं, समानता यह है कि दोनों के लिए अभी तक कोई वैक्सीन विकसित नहीं हो पाई है।

अगर आपको यह खबर पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें, देश-विदेश से जुड़ी ताजा अपडेट पाने के लिए कृपया हमें फ़ॉलो जरुर करें.

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *