Home / देश दुनिया / अब बेटा भी जायेगा जेल

अब बेटा भी जायेगा जेल

मा’फि”या डॉ-न मु”ख्ता’र पंजाब की रो’पण जेल में बंद है तो अब उसके  बेटे अ-ब्बास अं–सा’री की भी जेल जाने की नौबत आ गई है. यूपी एसटीएफ ने अ”ब्बा’स अं-सा”री पर दर्ज एफआईआर में चार्जशीट दाखिल कर दी है. एसटीएफ की तरफ से बेटे  पर कुल 13 बिंदुओं पर आ-रोप पत्र दाखिल किया गया है. अब तक की जांच के बाद यूपी एसटीएफ को यकीन है कि जेल में बंद मु”ख्ता’र के गैं”ग को प्रतिबंधित बोर के कार’तूस की सप्लाई अ”ब्बास अंसारी के जरिए हो रही थी.

अब्बास अंसारी पर कसा कानून का शिकंजा
माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी पर कानून का शिकंजा कस गया है. यूपी एसटीएफ की तरफ से लखनऊ के महानगर थाने में 3 जनवरी 2020 को अब्बास अंसारी पर दर्ज कराई गई एफआईआर में एसटीएफ ने चार्जशीट दाखिल कर दी है. दाखिल की गई चार्जशीट में अब्बास अंसारी पर न सिर्फ लाइसेंस के दुरुपयोग बल्कि प्रतिबंधित बोर के कारतूस रखना, राइफल एसोसिएशन के बनाए नियमों का उल्लंघन करना समेत 13 बिंदु में चार्जशीट दाखिल की गई है.

7  के बजाय 8 असलहे रखे
बता दें कि राइफल एसोसिएशन ने अब्बास अंसारी की ग्लॉक पिस्टल पर मिली स्पेयर बैरल और बरामद कारतूस को अवैध और गैर कानूनी बताया था. नेशनल राइफल एसोसिएशन ऑफ इंडिया के तरफ से यूपी एसटीएफ को भेजी रिपोर्ट में साफ लिखा था कि अब्बास अंसारी ने एक लाइसेंस पर 7 असलहे रखने के बजाय 8 असलहे रखे थे. एसटीएफ को मिले 6 स्पेयर बैरल में से 2 बैरल प्रतिबंधित बोर .375 और 1 बैरल . 458 की थी. नियमानुसार सिर्फ दो स्पेयर बैरल रखी जा सकती हैं लेकिन अब्बास अंसारी ने 6 स्पेयर बैरल रखी थी. इसके साथ ही अब्बास अंसारी के पास से यूपी एसटीएफ को 4431 वो कारतूस मिले जो फुल जैकेट थे या सेमी जैकेट यानी वो कारतूस जो शूटिंग में प्रयुक्त नहीं होते.

13 बिंदुओं पर चार्जशीट दाखिल
यूपी एसटीएफ ने अब्बास अंसारी पर दर्ज केस की जांच करते हुए 13 बिंदुओं पर चार्जशीट दाखिल की है. अब्बास अंसारी ने बिना लखनऊ जिला प्रशासन को बताए अपने लाइसेंस का नाम पता बदला. बंदूक के लाइसेंस को पिस्टल और रिवाल्वर के लाइसेंस में बिना एनओसी लिए बदलवा लिया. शूटिंग के नियम के तहत एक लाइसेंस पर 7 असलहे ही खरीदे जा सकते हैं लेकिन अब्बास अंसारी ने एक ही लाइसेंस पर 8 असलाहे खरीदे थे. वहीं, दूसरी तरफ अब्बास अंसारी के पास से जो कारतूस मिले वो शूटिंग में प्रयुक्त ही नहीं होते यानी जो कारतूस शूटिंग की किसी भी प्रतियोगिता में प्रयुक्त नहीं होते वो प्रतिबंधित बोर के हजारों कारतूस अब्बास अंसारी के पास से मिले हैं, इतना ही नहीं बरामद कारतूस का भी कोई ब्यौरा नहीं था.

यूपी एसटीएफ को शक
यूपी एसटीएफ को शक है शूटिंग प्रतियोगिता के नाम पर अब्बास अंसारी पिता मुख्तार अंसारी के गैंग को कारतूस की सप्लाई कर रहा था क्योंकि जो असलहे, स्पेयर बैरल और कारतूस बरामद हुए वो सब इसी ओर इशारा कर रहे हैं. बता दें कि अब्बास अंसारी के पास से यूपी एसटीएफ ने 9 स्पेयर बैरल, साढ़े 4 हजार से ज्यादा कारतूस और 12 बोर की डबल बैरल व सिंगल बैरल 3 बंदूक, एक राइफल, 3 ग्लॉक पिस्टल बरामद की है

 

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *