free tracking
Breaking News
Home / ताजा खबरे / अब भारत में ही बनेगे 5वी पीढ़ी के फाइटर जेट,केवल अमेरिका और रूस के पास है टेक्निक

अब भारत में ही बनेगे 5वी पीढ़ी के फाइटर जेट,केवल अमेरिका और रूस के पास है टेक्निक

दोस्तों सबसे पहले ये जान लेना बहुत जरूरी है लड़ाकू विमान होते क्या है इनमे क्या खासियत होती है .आपको बता दे जिन एयरक्राफ्ट में उन्नत एवियोनिक्स सुविधाओं, अत्यधिक एकीकृत कंप्यूटर सिस्टम, स्टील्थ तकनीक, लो प्रोबेबिलिटी ऑफ़ इंटरसेप्ट राडार  और उच्च-प्रदर्शन एयरफ्रेम जैसे सभी सबसे आधुनिक प्रौद्योगिकियों का इस्तेमाल हुआ हो,पाँचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमान कहा जाता है.इन लड़ाकू विमान को लेकर खबर सामने आ रही है खबर के मुताबिक जिन लड़ाकू विमान को बनाने के टेक्निक अब तक सिर्फ अमेरिका और रूस के पास थी .अब वो लड़ाकू विमान भारत में बनने जा  रहे है .

रक्षा मंत्रालय ने उन्नत मध्यम लड़ाकू विमान (एएमसीए) के डिजाइन और प्रोटोटाइप डेवलपमेंट के लिए प्रधानमंत्री की अगुआई वाली केंद्रीय मंत्रिमंडल की सुरक्षा संबंधी समिति (सीसीएस) से मंजूरी लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट ने सोमवार को राज्यसभा में परियोजना के बारे में पूछे गए एक सवाल का जवाब देते हुए यह जानकारी दी।अपनी हवाई क्षमता में उल्लेखनीय रूप से वृद्धि के लिए भारत उन्नत सुविधाओं के साथ पांचवीं पीढ़ी के मध्यम वजन वाले लड़ाकू जेट विकसित करने की परियोजना पर काम कर रहा है। परियोजना पर प्रारंभिक अनुमानित खर्च 1500 करोड़ रुपये है। विश्व में अभी अमेरिका, रूस और चीन जैसे कुछ चुने हुए देशों के पास ही पांचवीं पीढ़ी के स्टील्थ लड़ाकू विमान हैं।

भट्ट ने राज्यसभा को बताया कि पिछले छह वर्ष के दौरान विमान दुर्घटनाओं में 42 रक्षा कर्मियों की जान गई। सदन में पेश ब्योरे के अनुसार, पिछले पांच वर्ष के दौरान 45 विमान दुर्घटनाएं हुई जिनमें वायुसेना की 29 दुर्घटनाएं शामिल हैं। उन्होंने कहा कि 2017 से आतंकी हमले और आतंकवाद विरोधी अभियानों में 156 सेना के और तीन वायुसेना के जवान बलिदान हुए।रक्षा राज्यमंत्री ने एक सवाल के उत्तर में कहा कि 2010 से रक्षा कर्मियों की संलिप्तता के भ्रष्टाचार के कुल 1080 मामले सामने सामने आए हैं। वायुसेना से 29, नौसेना से पांच और थल सेना से 2013 से 2021 के बीच 1046 मामले सामने आए हैं।

अटल इनोवेशन मिशन से 9600 स्कूलों को मिली आर्थिक मदद

योजना राज्यमंत्री राव इंद्रजीत सिंह ने एक लिखित उत्तर में राज्यसभा को बताया कि सरकार के थिंक टैंक नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन ने अभी तक देश के 720 से ज्यादा जिलों में 9,606 स्कूलों को अटल टिंके¨रग प्रयोगशालाओं की स्थापना के लिए आर्थिक मदद दी है।

भारत में केवल 87 विदेशी पायलट कार्यरत

नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री वीके सिंह ने राज्यसभा में एक सवाल का लिखित उत्तर देते हुए कहा कि लगभग 9000 पायलटों में से केवल 87 विदेशी पायलट ही विभिन्न भारतीय विमानन कंपनियों के साथ काम कर रहे हैं। देश में पायलटों की कोई कमी नहीं है। कुछ खास तरह के विमानों पर कमांडरों की कमी है।

भारतीय एवं अंतरराष्ट्रीय अदालतों में एयर इंडिया के 2,657 मामले लंबित

नागरिक उड्डयन राज्यमंत्री ने राज्यसभा को एक सवाल के लिखित उत्तर में बताया कि भारतीय एवं अंतरराष्ट्रीय अदालतों में एयर इंडिया के खिलाफ 2,657 मामले लंबित हैं। पिछले वर्ष हुए विनिवेश के बाद एयर इंडिया टाटा समूह के नियंत्रण में है। वीके सिंह ने कहा कि एयर इंडिया के खिलाफ मामलों में केंद्र हस्तक्षेप नहीं करेगा।

 

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.