free tracking
Breaking News
Home / राजनीती / ताजा सर्वे में कायम है योगी का जलवा,अखिलेश फिरसे होंगे फैल

ताजा सर्वे में कायम है योगी का जलवा,अखिलेश फिरसे होंगे फैल

दोस्तों जैसा कि सभी को पता है आने वाले कुछो दिनों में विधानसभा चुनाव होने वाले है .आजकल हर तरह बस चुनाव के बारे में ही चर्चा हो रही है .ये चुनाव सात चरणों में होंगे .वैसे तो चुनाव के परिणाम मार्च में आयेंगे लेकिन ओपिनियन पोल्स के मुताबिक उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को चुन लिया गया है .माना जा रहा है इस बार उतर प्रदेश में ये सरकार राज करने वाली है .यदि आप भी जानना चाहते हो कौन सी पार्टी को मिलने वाली है कितनी सीटे और चुनाव सम्बन्धित और जानकारी तो खबर को अंत तक पढ़े .

उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी से 7 मार्च तक 7 चरणों में विधानसभा चुनाव होने जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश में चुनाव कौन जीतेगा और मुख्यमंत्री का ताज किसके सिर सजेगा इसका पता तो 10 मार्च को चलेगा लेकिन ओपिनियन पोल्स योगी को राजा मान चुके हैं। ज्यादातर ओपिनियन पोल्स को चौतरफा भाजपा की आंधी दिख रही है। फिलहाल सी वोटर और ताजा ओपिनियन पोल के मुताबिक यूपी में एक बार फिर योगी सरकार बन सकती है। भारतीय जनता पार्टी का कमल 223 से 235 सीटों पर खिल सकता है। अखिलेश यादव के नेतृत्व में समाजवादी पार्टी 2017 की तुलना में बहुत कुछ हासिल करती दिख रही है लेकिन सत्ता से दूर रह सकती है। सपा 145 से 157 सीटें जीत सकती है।

बसपा का हाथी अभी भी 2017 की सुस्त रफ्तार से चलता नजर आ रहा है। बसपा को 8 से 16 सीटों पर संतोष करना पड़ सकता है, जबकि कांग्रेस को सिर्फ 0-3 सीटें मिलने की उम्मीद है। दूसरों के खाते में 4-8 सीटें जा सकती हैं।
ओपिनियन पोल के मुताबिक भाजपा गठबंधन को 42 फीसदी वोट शेयर मिल सकता है। सपा 33 फीसदी वोट शेयर हासिल कर सकती है। बसपा को जहां 13 फीसदी वोट मिलने का अनुमान लगाया गया है, वहीं कांग्रेस को 7 फीसदी वोट मिलने की बात कही गई है। दूसरों को 5 प्रतिशत वोट मिल सकता है।

किसानों के आंदोलन को लेकर भाजपा के खिलाफ कथित नाराजगी के बावजूद भारतीय जनता पार्टी को पश्चिमी यूपी में सबसे ज्यादा सीटें मिलने की संभावना है। सर्वे के मुताबिक, 136 सीटों वाले पश्चिमी यूपी में भाजपा गठबंधन को 71 से 75 सीटें मिल सकती हैं, जबकि सपा को 53-57 सीटें मिल सकती हैं। बसपा को 4 से 6 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है, तो कांग्रेस के खाते में 1-3 सीटें और दूसरों के खाते में 0-2 सीटें। भाजपा भले ही अभी भी पूर्वांचल की 130 सीटों पर आगे चल रही है, लेकिन सपा को काफी फायदा होता दिख रहा है। पूर्वांचल में भाजपा 66 से 70 सीटें जीत सकती है। सपा 48-52 सीटों पर कब्जा कर सकती है। वहीं, बसपा यहां 5-7 सीटें जीत सकती है। कांग्रेस के खाते में 1-3 सीटें और दूसरों के हिस्से में 3-5 सीटें जा सकती हैं।

जनमत सर्वेक्षणों के मुताबिक अवध की कुल 118 सीटों में से बीजेपी 71 से 75 सीटों पर कब्जा कर सकती है। समाजवादी पार्टी 40-44 सीटों पर कब्जा कर सकती है। बुंदेलखंड में 19 सीटों के साथ बीजेपी 13 से 17 सीटें जीत सकती है, जबकि सपा 2-6 सीटें जीत सकती है।

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *