Breaking News
Home / ताजा खबरे / नौकरी करने वाले जरुर पढ़े ये खबर

नौकरी करने वाले जरुर पढ़े ये खबर

कोरोना संकट के कारण सरकार ने इम्प्लोयी और इम्प्लोयर को राहत देते हुए मई, जून और जुलाई तीन महीने के लिए EPF अकाउंट के योगदान में  4 प्रतिशत की कटौती की घोषणा की थी ! जिसकी अबाधि  31 जुलायी तक ही थी ! अब 1 अगस्त से आपके  EPF अकाउंट में पुराने दरो पर ही कटौती होगी !  यानिकी अगस्त महीने से आपके एप्फ़ अकाउंट में 12 प्रतिशत की ही कटौती होगी !

मई के महीने में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की थी की तीन महीने तक आपके EPF अकाउंट में 12 प्रतिशत की जगह 8 प्रतिशत ही कटेगा ! जिसकी वजह से  लगभग 6.5 लाख कंपनियों के कर्मचारियों को हर महीने लगभग 2,250 करोड़ रुपए का फायदा हुआ.

EPF अकाउंट में 12 प्रतिशत जमा करने का मतलब है कि employee और employer का योगदान मिला कर कुल 24 प्रतिशत हुआ ! 12% बेसिक सैलरी और महंगाई भत्ता (DA)- कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा बनाए गए रिटायरमेंट फंड के लिए हर महीने ईपीएफ कटौती के रूप में होती है. वैधानिक कटौती कुल 4% (नियोक्ता के योगदान का 2% और कर्मचारी के योगदान का 2%) में कटौती की गई थी.

बेसिक और डीए के 4% के बराबर कटौती से सैलरी भी बढ़ गई. सेंट्रल पब्लिक सेक्टर एंटरप्राजेज और राज्य सार्वजनिक उपक्रमों के कर्मचारियों के मामले में 12% नियोक्ताओं के हिस्से का भुगतान किया गया था, जबकि कर्मचारियों ने 10% का भुगतान किया था. अगले महीने से कटौती पुराने लेवल पर वापस आ जाएगी. श्रम मंत्रालय ने घोषणा करते समय कर्मचारियों को कहा था कि अगर वे चाहते हैं तो अगले तीन महीनों के लिए अपने प्रोविडेंट फंड (PF) में मूल वेतन का 10% से अधिक योगदान कर सकते हैं, लेकिन नियोक्ताओं को हायर कंट्रीब्यूशन से मेल खाने की आवश्यकता नहीं है.

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *