free tracking
Home / ताजा खबरे / आखिरकार सपा ने दिखाया अपना चरित्र, जे’ल में बंद मुख्तार सपा गठबंधन से लड़ेंगे चुनाव

आखिरकार सपा ने दिखाया अपना चरित्र, जे’ल में बंद मुख्तार सपा गठबंधन से लड़ेंगे चुनाव

दोस्तों बाहुबली के नाम से जाने जाने वाले उत्तर प्रदेश के फेमस माफिया डॉन मुख्तार अंसारी एक राजनेता भी है . जेल में रहते हुए मुख्तार अंसारी तीन बार चुनाव जीत चुके है और विधायक बन चुके है .फिलहाल अभी भी मुख्तार अंसारी जेल में ही है .जैसा कि सभी को मालूम है विधान सभा चुनाव हो रहे है ऐसे में हालही में खबर आई है कि मुख्तार अंसारी एक बार फिर से  चुनावी मैदान में कदम रख  रहे है .ऐसे में सवाल  ये उठता है क्या मुख्तार अंसारी को टिकेट मिलेगा या नही .यदि टिकेट मिलता है तो इस बार भी क्या उनकी जीत निश्चित है .

मऊ की सदर सीट से विधायक मुख्तार अंसारी एक बार फिर चुनावी मैदान में आ रहे हैं। सपा गठबंधन में शामिल ओमप्रकाश राजभर की पार्टी सुभासपा ने मुख्तार अंसारी को टिकट दिया है। मुख्तार का नामांकन फार्म भरने के लिए कोर्ट से इजाजत मांगी गई है। कोर्ट गुरुवार को मामले पर सुनवाई करेगी।

मुख्तार अंसारी के वकील दरोगा सिंह ने  फोन पर हुई बातचीत में बताया कि कोरोना को  देखते हुए इस समय जेल में मुलाकात पर रोक लगी हुई है। इसी को देखते हुए विशेष न्यायाधीश एमपी/एमएलए कोर्ट में अर्जी दी गई है। अर्जी में कहा गया है कि नामांकन फार्म भरने के लिए मुख्तार से मिलना जरूरी है। ऐसे में उनके अधिवक्ता, प्रस्तावकों, नोटरी अधिवक्ता और फोटोग्राफरों की मुलाकात की अनुमति मांगी गई है। मंगलवार को दायर की गई अर्जी पर बुधवार को सुनवाई होनी थी। लेकिन हड़ताल के कारण अब गुरुवार को होगी।सुभासपा की तरफ से अभी टिकट की आधिकारिक घोषणा नहीं होने के सवाल पर अधिवक्ता ने कहा कि पार्टी के महासचिव और ओमप्रकाश राजभर के बेटे अरविंद राजभर की तरफ से उन्हें मुख्तार अंसारी के लिए अधिकृत पत्र व अन्य जरूरी दस्तावेज दिये गए हैं।

क्या है अर्जी में

अधिवक्ता की अर्जी में कहा गया है कि मुख्तार अंसारी विधानसभा चुनाव में नामांकन करना चाहते हैं। मुख्तार अंसारी को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी ने मऊ की सदर सीट से प्रत्याशी घोषित किया है। नामांकन पत्र और उसके साथ संलग्न शपथ पत्र पर प्रत्याशी की चल अचल संपतियों से संबंधित ब्योरा दर्ज किये जाते हैं। नामांकन पत्र पर प्रत्याशी के हस्ताक्षर भी होते हैं। नामांकन पत्र पर औपचारिकताएं पूरी कराने के लिए उनके अधिवक्ता, नोटरी अधिवक्ता, प्रस्तावकों, फोटोग्राफर को बांदा जेल में जाने की अनुमति दी जाए।

मुख्तार अंसारी का अभेद्य दुर्ग रहा है मऊ सदर

 

 मऊ सदर सीट लंबे समय से मुख्तार अंसारी का अभेद्य दुर्ग रहा है। पिछली बार बहुजन समाज पार्टी के टिकट पर मुख्तार अंसारी यहां से विधायक बने थे। फिलहाल भाजपा ने भी इस सीट से अभी प्रत्याशी की घोषणा नहीं की है। सुभासपा और समाजवादी पार्टी की तरफ से अधिकृत प्रत्याशियों का नाम नहीं दिया गया है। बहुजन समाज पार्टी ने इस बार प्रदेश अध्यक्ष भीम राजभर को प्रभारी बनाने के साथ ही प्रत्याशी बनाया है। कांग्रेस की तरफ से माधवेन्द्र बहादुर सिंह को प्रत्याशी बनाया गया है।

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.