Home / ताजा खबरे / ए-म्स की रि-पोर्ट में उठे कई सवाल

ए-म्स की रि-पोर्ट में उठे कई सवाल

सु”शां’त प्रकरण में रोज नये खु-लासे हो रहे हैं। इस मामले में अब ए’म्स ने अपनी जां’च रि’पोर्ट सी’बी’आई को सौंप दी है। रि-पोर्ट में कहा गया है कि सु”शां’त के शरीर से आर्गे’निक ज-हर नहीं मिला है। हालांकि रि-पोर्ट में मुम्बई के कूपर हॉ-स्पि’टल के डॉ-क्टरों की भूमिका पर सवाल किया गया है। अ”’टॉ”प्सी में रोशनी की कमी पर सवाल किया गया है। यानी यह तय है कि अब सीबीआई को काफी मशक्कत करनी पड़ेगी सबूत हासिल करने में। सीबीआई ने कहा है कि अभी किसी भी ऐंगल को दरकिनार नहीं किया जा सकता है।

एम्स की रिपोर्ट में कहा गया है कि कूपर हॉस्पिटल में जहां सुशांत की अटॉप्सी की गई वहां रोशनी का अभाव था। इसमें कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टरों की भूमिका पर गंभीर सवाल उठाये गये हैं। एम्स की रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई में आगे की कार्रवाई के लिये मंथन चल रहा है। एम्स ने भी कहा है कि मामले की गहन जांच की प्रक्रिया अभी चल रही है और जारी रहेगी। कई पहलुओं का गहन अध्ययन आवश्यक है। हालांकि इस रिपोर्ट के आने के साथ ही रिपब्लिक टीवी के अलावा अधिकांश न्यूज चैनल और मीडिया हाऊस ने इन खबरों को सूत्रों के हवाले से चलाना शुरू कर दिया कि सीबीआई को जांच में कुछ नहीं मिला और मुम्बई पुलिस की छानबीन सही साबित हुई।

सुशांत की ऑटोप्सी रिपोर्ट की जांच के लिये 21 अगस्त को डॉ. सुधीर गुप्ता की लीडरशिप में एम्स के पांच डॉक्टर्स की टीम बनाई गई थी। रिपोर्ट में सुशांत की बॉडी का पोस्टमॉर्टम करने वाले मुंबई के कूपर हॉस्पिटल के डॉक्टर्स को क्लीन चिट नहीं दी गई है। दरअसल, कूपर अस्पताल के डॉक्टर्स ने सुशांत की ऑटोप्सी की थी। बाद में इसके तरीके पर सवाल उठे थे। सुशांत के गले के निशान पर रिपोर्ट में कुछ भी नहीं बताया गया था। यहां तक की टाइमिंग का भी जिक्र नहीं था। इसके बाद सीबीआई ने इसकी जांच एम्स से कराने का फैसला किया था।

हाल ही में सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील विकास सिंह ने मामले में CBI जांच के बारे में परिवार की नाखुशी जाहिर की थी। प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुये विकास सिंह ने कहा था – एम्स के एक डॉक्टर ने सुशांत की बहन मीतू द्वारा क्लिक की गई उनके शरीर की तस्वीरों के आधार पर बताया था कि गला दबाकर सुशांत की जान ली गई।

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *