free tracking
Breaking News
Home / बॉलीवुड / “भुखमरी के बीच शाहजहां ने बनवाया था ताज महल” मशहूर गीतकार मनोज मुंतशिर ने मुगलों को बताया लुटेरा

“भुखमरी के बीच शाहजहां ने बनवाया था ताज महल” मशहूर गीतकार मनोज मुंतशिर ने मुगलों को बताया लुटेरा

दोस्तों ताजमहल जिसे सब प्यार की निशानी मानते है जिसे देखने सब दूर दूर से आते है जिसका नाम दुनिया के सात अजूबो में शामिल है . इसे और मुगलों को लेकर बॉलीवुड के मशहूर गीतकार मनोज मुंतशिर ने दिया बयान .खबर के मुताबिक मनोज मुंतशिर का मानना है कि आज तक हमे इतिहास की गलत जानकारी दी गयी है और 35 लाख लोगो की मृ-त्यु पर बने ताजमहल को कोई प्यार की निशानी कैसे कह सकता है .इसके बाद भी गीतकार मनोज मुंतशिर चुप नही रहे और उन्होंने अपने बयान में बहुत कुछ कहा इस मामले से जुडी पूरी खबर जानने के लिए खबर को अंत तक जरुर पढ़े .

मध्य प्रदेश के उज्जैन में गौरव दिवस कार्यक्रम में कलाकार मनोज मुंतशिर भी पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने मुगलों पर जमकर निशाना साधा और मुगलों को लुटेरा बताया। कार्यक्रम के दौरान मनोज मुंतशिर ने कहा कि हमें इतिहास गलत पढ़ाया गया। हमें ऐसा बताया गया कि जैसे शेर शाह सूरी, अकबर और खिलजी जैसे शासक नहीं होते तो हम पत्ते लपेटकर नाचते लेकिन अब इन मूर्खों को कौन बताये कि इसके पहले यहां पर मोहनजोदड़ो भी था।कार्यक्रम में मनोज मुंतशिर ने कहा कि, “मुगलों हजारों वर्ष पहले जब तुम नहीं थे, हमारे यहां महाकाल का मंदिर बन चुका था। जब मुगलों ने 2 ईंट भी जोड़नी नहीं सीखी थी, तब हमारे यहां क्षत्रिय राजाओं द्वारा बनाए गए मंदिर थे। अजंता हमारे यहां है, एलोरा हमारे यहां और कोनार्क हमारे यहां हैं। जब शाहजहां ताज महल बनवा रहे थे तब इसी भारत देश में 35 लाख लोग भुखमरी का शिकार होकर दम तोड़ रहे थे। ऐसे समय में एक राजा 9 करोड़ रुपए एक मकबरे में खर्च कर देता है जिससे उस समय पूरे देश में गरीबी मिट सकती थी।”

मनोज मुंतशिर ने आगे कहा कि, “एक तरफ हमने महाराज विक्रमादित्य को देखा और एक तरफ इन लुटेरों और डकैतों को भी देखा, ये हमारी बदकिस्मती थी। ताज महल बनवा दिया चलो ठीक है बनवा दिया। लेकिन अब बाएं हाथ से लिखे हुए इतिहास हमें यह बताने की कोशिश कर रहे हैं कि ताजमहल मोहब्बत की निशानी है।”मनोज मुंतशिर ने कहा कि, “चित्तौड़ जहां हमारी महारानी पद्मिनी अपने पति राजा रतन सिंह के वियोग में जलती हुई चिता में कूद गईं लेकिन खिलजी को अपने आंचल का एक तार नहीं छूने दिया। अगर प्रेम की निशानी देखनी है तो उस पुल को देखिए जिसे श्री राम ने अपनी प्राणप्रिय सीता को रावण के चंगुल से छुड़ाने के लिए समुंदर के बीच में बना दिया था। हमें आप जोधा अकबर, अनारकली दिखाते हैं, आप छोड़िए मोहब्बत की झूठी कहानियों पे रोना, बहुत सारी सच्ची कहानियां हमारे पास हैं।”

कौन हैं मनोज मुंतशिर:

मनोज मुंतशिर बॉलीवुड के मशहूर गीतकार है, जिन्होंने कई सारे डायलॉग भी लिखे हैं। मनोज मुंतशिर का जन्म यूपी के अमेठी जिले में हुआ है और इनका असली नाम मनोज शुक्ला है। फिल्म बाहुबली कि कई सारे डायलॉग मनोज मुंतशिर ने ही लिखे हैं। फिल्म रुस्तम का गाना “तेरे संग यारा” भी मनोज ने ही लिखा है। मनोज देश के हर विवादित और चर्चित मुद्दों पर भी अपनी राय रखते रहते हैं जिससे सोशल मीडिया पर वो चर्चा का केंद्र बने रहते हैं।

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.