free tracking
Breaking News
Home / राजनीती / बुरे फसे लालू यादव,चारे के पैसा खाने के आरोप में दोषी हुए करार

बुरे फसे लालू यादव,चारे के पैसा खाने के आरोप में दोषी हुए करार

दोस्तों आपने बहुत बार कई तरह के घोटालो की खबरे सुनी होगी और ये घोटाले कोई छोटे मोटे नही बल्कि करोड़ो रुपयों के होते है .जिनमे कई जाने माने बड़े बड़े नेता और  बड़ी बड़ी हस्तिया भी शामिल होती  है . आज हम आपको ऐसे ही एक बड़े घोटाले के बारे में बताने वाले है .जिस पर हालही में फैसला लिया गया है .इस फैसले के मुताबिक ये खबर सामने आई है कि लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया गया है . आपकी जानकारी के लिए बता दे इससे पहले भी और कई मामलो में लालू प्रसाद यादव दोषी पाए गये है . आखिर ये मामला क्या है जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े .

इस मामले में CBI कोर्ट ने फैसला सुना दिया है. लालू प्रसाद चारा घोटाला मामले के सबसे बड़े और पांचवे मामले में भी दोषी करार दिए गए हैं. इससे पहले लालू प्रसाद चार मामले में भी दोषी करार दिए गए है. लालू प्रसाद को दोषी करार दिए जाने के बाद आरजेडी नेता अब्दुल बारी सिद्धीकी ने कहा है. इस फैसले से उन्हें बहुत अफसोस है. उन्होंने कहा कि पार्टी इस मामले में उपर की अदालत में जाएगी. चारा घोटाला के इस मामले में लालू प्रसाद समेत 75 लोगों को दोषी करार दिया गया है. जबकि 24 लोगों को मामले में दोषमुक्त कर दिया गया हैइधर लालू प्रसाद के वकील ने कोर्ट से गुजारिश की है कि लालू प्रसाद जो लगातार अस्वस्थ हैं. उन्हें होटवार जेल भेजने के बजाए रांची के रिम्स में भेजा जाय. लालू प्रसाद के वकील प्रभात कुमार की इस अपील पर कोर्ट 2 बजे के बाद फैसला सुनाएगी

सजा पर 21 फरवरी को सुनवाई

दोषी करार दिए गए लालू प्रसाद को 21 फरवरी को सजा सुनाई जाएगी. इस दिन लालू प्रसाद को कोर्ट में मौजूद रहना होगा. तो वहीं घोटाले के इस मामले में 21 लोगों को आज सजा सुना दी गई है.बाकीं दोषियों को 21 फरवरी को सजा सुनाई जाएगी. आज दोषी करार दिए जाने वालों में जगदीश शर्मा, नंदकिशोर प्रसाद, को तीन साल की सजा सुनाई गई है. जबकि अशोक कुमार यादव को भी तीन साल की सजा सुनाई गई है.

Fodder scam: RJD chief Lalu Prasad Yadav convicted of fraudulent withdrawal from Doranda treasury by a CBI Special Court in Ranchi pic.twitter.com/J9AvvhmOjk

– ANI (@ANI)

क्या है डोरंडा कोषागार मामला

डोरंडा कोषागार से 139.35 करोड़ की अवैध निकासी हुई थी. इस मामले में शुरुआत में 170 आरोपी बनाए गए थे, इसमें से 55 आरोपियों की मौत हो गई. लालू प्रसाद इस मामले के मुख्य आरोपी हैं. मामले में दीपेश चांडक और आरके दास समेत सात आरोपियों को सीबीआई ने गवाह बनाया है. तो वहीं दो लोग सुशील झा और पीके जायसवाल ने निर्णय से पहले ही अपना दोष स्वीकार कर लिया है. जबकि इस मामले में छह आरोपी फरार है. इस हाईप्रोफाइल मामले में लालू यादव के अलावा पूर्व सांसद जगदीश शर्मा, डॉक्टर आरके राणा, पीएसी के तत्कालीन अध्यक्ष ध्रुव भगत, तत्कालीन पशुपालन सचिव बेक जूलियस, पशुपालन विभाग के सहायक निदेशक डॉक्टर के एम प्रसाद सहित 99 आरोपी हैं

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.