free tracking
Breaking News
Home / देश दुनिया / रूस यात्रा की पा’किस्तान को मिली सजा,ब्रिटेन के एक्शन से बौखलाए इमरान खान,बोले-इतना बड़ा कैसे

रूस यात्रा की पा’किस्तान को मिली सजा,ब्रिटेन के एक्शन से बौखलाए इमरान खान,बोले-इतना बड़ा कैसे

दोस्तों जैसा कि सभी को मालूम है इन दिनों रूस और युक्रेन के बीच युद्ध छिड़ा हुआ है .ऐसे में किसी भी देश की छोटी सी गलती उसे मुश्किल में डाल सकती है .तो इस वक्त हर देश कोई भी कदम उठाने से पहले अच्छे से सोच विचार कर ले .क्योकि ऐसा ही एक गल्ती पाकिस्तान के प्रधानमन्त्री इमरान खान कर बैठे है जिसकी सजा अब पुरे पाकिस्तान को मिल रही है .खबर सामने आई है कि इमरान खान के एक ऐसे कदम की वजह से ब्रिटेन ने लिया ऐसा फैसला कि  इमरान खान समझ नही पा  रहे है कि उनके साथ क्या हुआ .पूरा मामला जानने के लिए खबर को अंत तक पढ़े .

रूस ने जिस दिन यूक्रेन पर हमला बोला था उसी दिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान अपने रूस दौरे पर मॉस्को पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने यह भी कहा था कि मैं कितने सही समय पर यहां आया हूं, बहुत मजा आएगा।इरमान खान अपने इस दौरे के चक्कर में रूस से दोस्ती तो कर आए वो भी हुआ है या नहीं इसका किसी को पता नहीं, लेकिन उन्होंने पूरे पश्चिमी देशों से दुश्मनी कर ली  है। जो बाइडन ने साफ दौर पर पाकिस्तान का नाम न लेते हुए कहा था कि जो भी रूस की मदद करेगा वो उसे बरबाद कर देंगे। अब पाकिस्तान के खिलाफ ब्रिटेन ने एक्शन लिया है जिसके बाद इमरान खान बौखला उठे हैं।इमरान खान के रूस दौरे के बाद ब्रिटेन ने जो एक्शन लिया है वो यह कि, पाकिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (NSA) मोईद यूसुफ (Moeed Yusuf) की अगले हफ्ते होने वाली ब्रिटेन (Britain) की यात्रा रद्द कर दी गई है। ब्रिटिश सरकार ने इस यात्रा को बिना किसी जानकारी के रद्द कर दिया। पाकिस्तानी NSA को अगले हफ्ते ब्रिटेन की यात्रा पर जाना था। द न्यूज इंटरनेशनल ने बताया कि रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध के प्रति पाकिस्तान की नीति के कारण यात्रा को रद्द कर दिया गया है।

इसमें इसपर भी इशारा किया गया है कि, ब्रिटेन का ये कदम पाकिस्तानी सरकार की एक  प्रतिक्रिया से जुड़ा हुआ है। दरअसल, इस्लामाबाद स्थित यूरोपियन यूनियन के देशों के मिशनों के प्रमुखों द्वारा जापान, कनाडा, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के साथ ज्वाइंट प्रेस रिलीज जारी की गई। जिसमें पाकिस्तान से कहा गया कि वह यूरोपियन यूनियन देशों के साथ आकर रूस द्वारा यूक्रेन में किए गए हमले को लेकर उसकी निंदा करे। इसके अलावा, वह यूक्रेन में यूएन चार्टर और अंतरराष्ट्रीय कानून के संस्थापक सिद्धांतों को बनाए रखने के समर्थन में आवाज उठाए। लेकिन, पाकिस्तान ने इस बयान को गैर-राजनयिक और अस्वीकार्य बताते हुए अपनी निराशा व्यक्त की। विदेश कार्यालय के प्रवक्ता असीम इफ्तिखार ने शुक्रवार को मीडिया से बातचीत में स्पष्ट किया कि पाकिस्तान ने इस्लामाबाद में तैनात यूरोपियन यूनियन के दूतों के एक समूह द्वारा जारी संयुक्त बयान पर ध्यान दिया है।

द न्यूज इंटरनेशनल के हवाले से प्रवक्ता ने कहा, हमने बयान पर चिंता व्यक्त की क्योंकि जैसा कि मैंने कहा कि कूटनीति का इस तरह से अभ्यास नहीं किया जाना चाहिए और मुझे लगता है कि उन्हें इस बात का एहसास है। हालांकि, प्रवक्ता ने इस बात से इनकार किया कि NSA यात्रा को रद्द करना यूरोपियन यूनियन के बयान पर पाकिस्तान की प्रतिक्रिया से जुड़ा था।

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.