free tracking
Breaking News
Home / राजनीती / बेटे मयंक को टिकेट न मिलने पर माँ रीता बहुगुणा ने किया राजनीति से सन्यास का ऐलान

बेटे मयंक को टिकेट न मिलने पर माँ रीता बहुगुणा ने किया राजनीति से सन्यास का ऐलान

दोस्तों चुनाव में किस उम्मीदवार को टिकेट देनी है या नही ये पार्टी का निर्णय होता है . हालही में विधान सभा चुनाव टिकेट को लेकर खबर आई है कि भाजपा ने मयंक जोशी को विधानसभा चुनाव टिकट नहीं देने का फैसला किया है .जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी सांसद रीता बहुगुणा जोशी ने  चुनावी राजनीति से संन्यास लेने का फैसला लिया है . आपकी जानकरी के लिए बता दे इस बात की जानकारी  खुद रीता जोशी  ने दी है कि बीजेपी ने उनके  बेटे मयंक जोशी को टिकट देने से इनकार कर दिया है.और अब वो भी सन्यास लेने वाली है .

बीजेपी सांसद ने कहा कि साल 2024 में संसद का कार्यकाल पूरा होने के बाद अब वह कोई चुनाव नहीं लड़ेंगी. उन्होंने कहा कि अब भविष्य में कोई चुनाव नहीं लड़ना है. बेटे को लेकर रीता जोशी ने कहा कि मयंक खुद समझदार हैं और वह अपना फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं.

रीता जोशी ने बेटे मयंक के पार्टी छोड़ने के दिए संकेत?


बीजेपी नेता ने कहा कि मयंक जोशी जो चाहें वह फैसला ले सकते हैं. रीता जोशी ने संकेत दिए हैं कि उनके बेटे मयंक जोशी पाला बदल सकते हैं. उन्होंने कहा कि मयंक पिछले 12 साल से राजनीति में सक्रियता के साथ काम कर रहे थे. मयंक अगर खुद इंतजार कर सकते हैं तो ठीक है, नहीं तो वह जो भी फैसला लेना चाहें. उसके लिए स्वतंत्र हैं.रीता जोशी ने कहा कि लखनऊ में मयंक ने लोगों की खूब सेवा की है. पार्टी को उन्हें साल 2019 के उपचुनाव में ही टिकट देना चाहिए था लेकिन साल 2022 में उन्हें टिकट का वायदा किया गया था. अब साल 2024 में टिकट देने की बात कही जा रही है.

क्या रीता जोशी छोड़ देंगी पार्टी? दिया यह जवाब


हालांकि रीता जोशी ने यह भी कहा कि वह बीजेपी नहीं छोड़ेंगी. वह पार्टी में ही रहेंगी. सांसद ने कहा कि पार्टी अगर प्रचार के लिए कहेगी तो उसके लिए कैंपेन भी करेंगी. उन्होंने कहा कि बेटे को टिकट ना मिलने के बावजूद बीजेपी छोड़कर जाने का उनका कोई इरादा नहीं है.रीता जोशी फिलहाल दिल्ली में ही हैं. उन्होंने कहा कि लखनऊ कैंट से पार्टी उम्मीदवार के नाम का औपचारिक ऐलान होने के बाद ही वह लखनऊ वापस लौटेंगी. बीजेपी नेता ने कहा कि कार्यकर्ताओं और समर्थकों का बेटे के टिकट को लेकर बहुत दबाव है इसलिए वह दिल्लीं में ही रुकी हुई हैं.

About Megha

Leave a Reply

Your email address will not be published.