free tracking
Breaking News
Home / बॉलीवुड / मैं बच्ची थी तब शेख अब्दुल्ला ने कहा था”हिन्दुओ से बर्तन साफ करवाऊंगा” फ़िल्म देखकर छलका मा का दर्द

मैं बच्ची थी तब शेख अब्दुल्ला ने कहा था”हिन्दुओ से बर्तन साफ करवाऊंगा” फ़िल्म देखकर छलका मा का दर्द

दोस्तों सालो पहले कश्मीरी पंडितो पर कितने ही अत्याचार किये गये उन्हें उन्ही के घरो से निकल जाने के लिए मजबूर किया गया . इन सब ही बातो और उनके दुखो को ब्यान करने वाली फिल्म  ‘द कश्मीर फाइल्स 26 जनवरी 2022 को रिलीज हुयी . विवेक अग्निहोत्री के निर्देशन में बनी इस फिल्म में बहुत से मुख्य किरदार है जिनमे से एक अभिनेता अनुपम खेर भी है . आपको बता दे अभिनेता अनुपम खेर और उनकी माँ ने कुछ समय पहले ही ये फिल्म देखी है .इस फिल्म को देखने के बाद उनकी माँ  का दर्द झलक पड़ा और उन्होंने ने झकझोरने वाली बाते बताई जिसे अनुपम खेर ने रिकॉर्ड कर शेयर किया .यदि आप भी जानना चाहते हो तो खबर को अंत तक पढ़े .

वैसे तो अनुपम खेर ने भी लिखा है, “माँ कश्मीरी फाइल्स देखने के बाद बहुत लंबे समय के लिए चुप हो गई थीं मैंने उन्हें गले लगाया और जब अलविदा कहा तो वह प्यार से बोलीं, ‘अच्छा काम किया तूने इस फिल्म में। ये तेरा फर्ज था। दुनिया भर में रह रहे कश्मीरियों के लिए’।” अभिनेता के मुताबिक उनकी माँ की कही बात वाकई सच है। ये प्रोजेक्ट उनके लिए एक फिल्म से बढ़कर था।

ट्वीट के साथ शेयर वीडयो में जब अनुपम खेर ने अपनी माँ दुलारी से पूछा कि उन्हें फिल्म कैसी लगी तो उन्होंने बेहद गंभीर होकर कहा, “मुझे सब पता ही है वहाँ का तो मुझे वही दिखा जो किया गया है। हम 30 साल से यही देख रहे हैं कि उस समय जो बच्चा हुआ वो आज 30-32 साल का है। मेरे भाइयों को चिट्ठियाँ दी गईं कि निकल जाओ। बेचारे नाना जी ने मकान बनाया था वो बेचारा इसी में मर भी गया। मेरा भाई शाम को ऑफिस से आया और दरवाजे पर चिट्ठी थी कि आज आपकी बारी है। वो लोग रामबाग में रहते थे तो रात में निकलें। जो ट्रक रात में चलते थे वे उसी में बैठकर निकल गए। उनके बच्चे दिल्ली में पढ़ रहे थे। उन्हें एक ग्लास पानी भी नहीं मिला।”

अनुपम खेर की माँ दुलारी कहती हैं, “मुझे सब कुछ पता है क्या किया उन्होंने। जिसने भी ये फिल्म बनाई उसने बहुत अच्छा किया। हम हिंदुओं के लिए बहुत अच्छा किया। मोदी तो बेचारा कर ही रहा है। लेकिन इस फिल्म से पता चलेगा कश्मीरियों के साथ क्या हुआ। अब तक बाहर वालों को क्या पता कि हमारे साथ क्या हुआ था। वो लोग तो हमारी दौलत, हमारा सामान सब कुछ ले गए। सबको ऐसे निकाला जैसे फकीर हों।वो स्तब्ध होकर कहती हैं कि इस फिल्म में जो चीजें दिखाई गईं उनके बारे में वह जानती थीं। वह अब्दुल्ला परिवार का जिक्र करते हुए कहती हैं, “शेख अब्दुल्ला ने कहा कि ये लोग मुसलमानियों से बर्तन धुलवाते हैं मैं हिंदुओं से करवाऊँगा। उस समय मैं छोटी सी थी। जैसे ये मुसलमानियों के साथ करते हैं मैं इनके साथ ऐसे ही करूँगा। उस समय मेरा मामा भी नेता था। अब्दुल्लाह ने जो कहा वही किया। ऐसे निकाल दिया जैसे यतीम हैं। भगवान इन लोगों से जरूर बदला लेगा।”

यहाँ बता दें कि विवेक अग्निहोत्री  द्वारा बनाई गई द कश्मीरी फाइल्स को लेकर अब तक दावा है कि इसमें 90 के दशक में कश्मीरी पंडितों पर हुआ अत्याचार बिना किसी प्रोपगेंडे के दिखाया गया है। उनकी पीड़ा और दर्द वैसा का वैसा प्रस्तुत है। ये फिल्म 26 जनवरी 2022 को रिलीज हुयी है ।कुछ समय पहले कश्मीर की हकीकत जानने के लिए लोग शिकारा फिल्म पर आश्रित हुए थे। लेकिन बाद में पता चला कि ये फिल्म कश्मीर के हालत बयान करने से ज्यादा किसी जोडे  की लव स्टोरी पर केन्द्रित है । कई जगह इस फिल्म का विरोध हुआ था। कश्मीरी पंडितों ने शिकारा को उनकी फीलिंग से खिलवाड़ बताया था।

 

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published.