Breaking News
Home / राजनीती / अब गहलोत सरकार का गिरना तय है

अब गहलोत सरकार का गिरना तय है

राजस्थान की राजनीति में दिन प्रति दिन कोई न कोई बदलाव देखने को मिलता रहता है ! राजस्थान की सियासत में जिस तरह संकट के बादल छाए हुए  है ! उसे देख कर लगता है कि सरकार ज्यादा दिन तक नहीं टिक पाएगी ! गहलोत सरकार में रोज कोई न कोई हैरान कर देने वाली खबर आ रही है !  मिली जानकारी के अनुसार पता चला है कि गहलोत सरकार के 11 सदस्य लापता हो गए है !

 

दरअसल  खबर आ रही है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने खेमे के विधायकों को जयपुर से निकालकर जैसलमेर स्विफ्ट कर दिया है! मिली जानकारी के अनुसार जब विधायकों को जैसलमेर लेकर जाया जा रहा था तो खेमे के 11 सदस्य लापता हो गए! गहलोत सरकार के 6 मंत्री और 5 विधायक अब तक जैसलमेर नहीं पहुंची इसे लेकर चर्चा का दौर शुरू हो गया!

जो 11 सदस्य जैसलमेर नहीं पहुंचे उनके नाम कुछ इस प्रकार है : परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, खेल मंत्री चांदना, कृषि मंत्री लालचन्द कटारिया, चिकित्सा राज्यमंत्री सुभाष गर्ग, सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना, विधायक जगदीश जांगिड़, विधायक अमित चाचाण, विधायक परसराम मोरदिया, विधायक बाबूलाल बैरवा और विधायक बलवान पूनिया शामिल!

इसी बीच अशोक गहलोत सरकार ने केंद्र सरकार के ऊपर हॉर्स ट्रेडिंग करने का आरोप लगा दिया है! अशोक गहलोत ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि विधानसभा सत्र बुलाने को लेकर जैसे ही राज्यपाल महोदय का आदेश जारी हुआ वैसे ही हमारे विधायक को उनके परिवार वालों उनके मिलने वालों को ध-मकी और दबाव भरे फोन आने लगे मानसिक रूप से विधायकों को परेशान कर दिया गया!

शाम के मुख्यमंत्री का कहना है कि मैं हमेशा अमित शाह जी का नाम बार-बार इसलिए लेता हूं क्योंकि फोरफ्रंट पर वही आते हैं कर्नाटक के लिए भी मध्यप्रदेश के लिए, भी गोवा के लिए भी, या फिर मणिपुर हो, अरुणाचल प्रदेश हो, तो मजबूरी में कहना पड़ता है कि अमित शाह जी आपको क्या हो गया है? आप रात-दिन, जागते-सोते हर वक्त सोचते हो किस तरह मैं गवर्नमेंट को गिराऊं!

About admin1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *